ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRATM से चोरी कर पैसे गरीबों में बांटा, रॉबिनहुड बना सेना का पूर्व जवान; चुनाव लड़ने का था प्लान

ATM से चोरी कर पैसे गरीबों में बांटा, रॉबिनहुड बना सेना का पूर्व जवान; चुनाव लड़ने का था प्लान

दिल्ली पुलिस ने सेना के पूर्व जवान को एटीएम फ्रॉड मामले में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी एटीएम से फ्रॉड करके पैसों से गरीबों की मदद करता था। आरोपी को 'एटीएम' के नाम से भी जाना जाता था।

ATM से चोरी कर पैसे गरीबों में बांटा, रॉबिनहुड बना सेना का पूर्व जवान; चुनाव लड़ने का था प्लान
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,दिल्लीThu, 16 May 2024 05:33 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली पुलिस ने एटीएम फ्रॉड के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया है। यह शख्स कोई आम नहीं बल्कि सेना का पूर्व जवान है। सेना से बर्खास्त हुआ जवान एटीएम फ्रॉड के जरिए जो पैसे इकट्ठा करता था उसे गरीबों की मदद के लिए खर्च कर देता था। इसलिए यह शख्स कानून की नजर में अपराधी है, वहीं दूसरी ओर लोगों की नजर में इसकी 'रॉबिनहुड' की छवि है। अपराधी अपने इलाके में 'एटीएम' के नाम से भी जाना जाता था। आइये जानते हैं 'रॉबिनहुड' राजेंद्र कुमार मीणा के करनामे के बारे में विस्तार से।

लोगों की नजर में 'रॉबिनहुड', कानून के लिए अपराधी
राजेंद्र कुमार मीणा राजस्थान नीम का थाना जिले का रहने वाला है। मीणा ने 18 सालों तक भारतीय सेना में नौकरी की है। उसपर लगे चोरी के आरोपों और दूसरे मामलों की वजह से सेना से बर्खास्त कर दिया गया था। इससे पहले भी आरोपी राजेंद्र मीणा को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस ने उसे एटीएम फ्रॉड करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि राजेंद्र उर्फ एटीएम चोरी के पैसे गरीबों पर खर्च करता था, जिस वजह से उसकी 'रॉबिनहुड' वाली छवि बन गई थी। पुलिस ने बताया है कि आरोपी चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा था।

'ATM' तक कैसे पहुंची पुलिस
इस मामले पर जानकारी देते हुए पुलिस उपायुक्त एम हर्षवर्धन ने बताया कि राजेंद्र एटीएम में एक मशीन फिट कर देता था। इस दौरान जब कोई कस्टमर पैसे निकालने आता था तो उसका एटीएम रिजेक्ट कर दिया जाता था। इस दौरान वहां लगे हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करने पर राजेंद्र के पास कॉल जाता था। तब राजेंद्र लोगों को मदद करने के दौरान उनका एटीएम कार्ड दूसरे कार्ड से बदल लेता था। कार्ड बदलकर राजेंद्र एटीएम से पैसे निकाल लेता था। इस तरह राजेंद्र ने दर्जनों लोगों के साथ फ्रॉड किया था।

पुलिस ने बताया कि 5 मई को करोलबाग पुलिस स्टेशन में एक फ्रॉड का मामला दर्ज किया गया था। शिकायत करते हुए पीड़ित ने बताया था कि उसके साथ एटीएम कार्ड बदलकर उसके एटीएम से 22 हजार रुपए निकाल लिए गए हैं। पुलिस ने इस मामले पर ऐक्शन लेते हुए जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी कैमरों की सहायता से आरोपी तक पहुंच गई और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी राजेंद्र मीणा के खिलाफ दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान में कुल 26 एफआईआर दर्ज हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें