DA Image
28 फरवरी, 2021|3:32|IST

अगली स्टोरी

कुंभ

27 फ़र॰ 2021

क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा के मनोभाव रहेंगे। परिवार का साथ मिलेगा। किसी मित्र का आगमन हो सकता है। खर्चों में वृद्धि होगी। धार्मिक संगीत में रुचि बढ़ेगी। किसी मित्र के सहयोग से आय के स्रोत विकसित हो सकते हैं। रहन-सहन कष्टमय रहेगा। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)

कुंभ

28 फ़र॰ 2021

मन अशान्त रहेगा। आत्मसंयत रहें। परिवार की जिम्मेदारी बढ़ सकती है। माता-पिता का सानिध्य मिलेगा। यात्रा खर्च बढ़ सकते हैं। आशा-निराशा के मिश्रित भाव रहेंगे। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। पिता को स्वास्थ्‍य विकार हो सकते हैं। खर्च अधिक रहेंगे। (पं.राघवेन्द्र शर्मा) 

कुंभ

1 मार्च 2021

Not found

कुंभ

week9-2021

Not found

कुंभ

1 फ़र॰ 2021

मास के प्रारंभ में अपनी सेहत का ध्यान रखें। कारोबार की स्थिति संतोषजनक रहेगी। परिश्रम अधिक रहेगा। 13 फरवरी से जीवनसाथी के स्वास्थ्य में सुधार होगा। परंतु धैर्यशीलता में कमी रहेगी। जीवनसाथी का साथ मिलेगा। 21 फरवरी के बाद माता का सानिध्य मिलेगा। 22 फरवरी को पिता का सानिध्य मिल सकता है।(पंडित राघवेंद्र शर्मा)

कुंभ

1 जन॰ 2021

कुंभ( 20 जनवरी-18 फरवरी)
वर्ष के प्रारंभ में मन परेशान रहेगा। धैर्यशीलता में कमी रहेगी। स्वास्थ्य में भी गड़बड़़ी हो सकती है। 22 फरवरी से कार्यक्षेत्र में परिश्रम की कमी आएगी। भवन या संपत्ति में विस्तार हो सकता है। पिता का सहयोग मिलेगा। अनियोजित खर्च अधिक रहेंगे। छह अप्रैल से शैक्षिक कार्यों में सुधार होगा। दांपत्य सुख में वृद्धि हो सकती है। 24 मई के बाद नौकरी में कार्यक्षेत्र में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां रहेंगी। अफसरों से वाद-विवाद से बचें। 15 सितंबर के बाद घर-परिवार में धार्मिक/मांगलिक कार्य हो सकते हैं। भवन के रखरखाव तथा साज-सज्जा के कार्यों पर खर्च बढ़ेंगे। 12 अक्तूबर के बाद परिवार के साथ यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। 21 नवंबर से शैक्षिक कार्य सुचारू होंगे। परिवार में सुख-शांति रहेगी। आय सुचारु रहेगी।
उपाय-
1. प्रतिदिन भगवान शिव की आराधना किया करें। शिवलिंग पर जल में दूध मिलाकर अभिषेक किया करें।
2. प्रत्येक बुधवार के दिन प्रातः गणेश चालीसा या गणेश स्त्रोत्र का पाठ किया करें।
3. 21 ग्राम चांदी की कड़ा सीधे (दाहिने) हाथ में धारण करें।