ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRबाजारों में उलझे बिजली के तारों से दिल्ली वाले परेशान, शिकायतों पर MCD का ऐक्शन

बाजारों में उलझे बिजली के तारों से दिल्ली वाले परेशान, शिकायतों पर MCD का ऐक्शन

दिल्ली में विभिन्न बाजारों में उलझे हुई बिजली के तारों को हटाया जाएगा। इस मामले को लेकर दिल्ली नगर निगम के समक्ष 100 से अधिक शिकायतें भी दर्ज हुई हैं। इन शिकायतों पर अब MCD का ऐक्शन सामने आया है।

बाजारों में उलझे बिजली के तारों से दिल्ली वाले परेशान, शिकायतों पर MCD का ऐक्शन
Krishna Singhराहुल मानव,नई दिल्लीSat, 15 Jun 2024 09:46 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में विभिन्न बाजारों में उलझे हुई बिजली के तारों को हटाया जाएगा। इस संबंध में नगर निगम प्रशासन बिजली कंपनियों के साथ कार्य को शुरू करेगा। कई बाजारों से व्यावसायिक गतिविधियों का संचालन करने वाले लोगों ने तारों को हटाने के लिए शिकायतें भी की हैं। इस मामले पर निगम की तरफ से कार्रवाई शुरू होगी। इस मामले को लेकर निगम के समक्ष 100 से अधिक शिकायतें भी दर्ज हुई हैं। इन शिकायतों की समीक्षा करते हुए कर्मचारी तारों को हटाएंगे। इसके लिए बिजली कंपनियों के प्रतिनिधियों को पत्र भी लिखा गया है। 

बिजली के तारों को खत्म करने की प्रक्रिया शुरू
निगम के अधिकारी ने बताया कि चांदनी चौक, दक्षिणी दिल्ली के बाजारों व अन्य जगहों से बिजली के तारों को हटाने का काम शुरू करेंगे। इस संबंध में लोगों की तरफ से शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इन शिकायतों का निवारण किया जा रहा है। निगम ने बिजली के तारों को खत्म करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कुछ तारें जिनका अब कोई भी उपयोग नहीं होता है। उन्हें संबंधित विभाग को हटाने के लिए भी कहा जा रहा है। बिजली कंपनियों के साथ मिलकर विभिन्न बाजारों, इलाकों में बिजली की तारें हटाएंगे। इस मामले पर व्यापारियों के साथ बैठक हो रही है। निगम प्रशासन ने बीते दो माह में कई जगहों से तारों को कम भी किया है।

नई ई-खरीद प्रणाली को शुरू किया
दिल्ली में नगर निगम की विभिन्न परियोजनाओं से जुड़ी निविदा (टेंडर) प्रक्रिया को नया रूप मिलने जा रहा है। सड़कों के निर्माण कार्य के लिए किसी एजेंसी को कार्य सौंपनी की जिम्मेदारी हो या इंजीनियरिंग लैंडफिल साइट के रखरखाव के लिए एक कंपनी को काम देने की योजना हो। ऐसे सभी कार्यों के लिए निविदा के लिए निगम प्रशासन ने नई ई-खरीद प्रणाली को शुरू किया है। इसके मद्देनजर जेपनिक-प्राइस नाम से एक सॉफ्टवेयर का एकीकरण किया गया है। इस प्रणाली के विकसित होने के बाद निविदा से जुड़े काम को ऑनलाइन माध्यम से स्वचलित किया जा सकेगा। इसमें मानवीय तौर पर हस्तक्षेप कम होगा। 

ऑनलाइन होगी पूरी प्रक्रिया
ऑनलाइन माध्यम से होगी पूरी प्रक्रियाअधिकारियों के अनुसार अब निगम से जुड़े विभिन्न परियोजनाओं की निविदा प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन होगी। इसमें एजेंसी व ठेकेदार को प्रोजेक्ट की लागत का अनुमान लगाने में सहयोग मिलेगा। साथ ही निविदा के तहत ठेके पर जिम्मेदारी देने की प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से सुनिश्चित होगी। निविदा प्रक्रिया के माध्यम से बोली लगाने वाले को अंतिम रूप देने के बाद, निविदा के सभी विवरण जैसे बोली लगाने वाले का नाम, बोली लगाने वाले का पता, बोली लगाने वालों की तुलना, निविदा के बाद की गतिविधियों से जुड़ी प्रक्रिया को सॉफ्टवेयर के जरिए स्थानांतरित की जा सकेगी।

Advertisement