ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशहैक हो सकती है EVM, इसे खत्म कर देना चाहिए; एलन मस्क का बड़ा दावा

हैक हो सकती है EVM, इसे खत्म कर देना चाहिए; एलन मस्क का बड़ा दावा

उन्होंने कहा कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है और इसे खत्म किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने अमेरिकी चुनावों से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को हटाने की मांग की।

हैक हो सकती है EVM, इसे खत्म कर देना चाहिए; एलन मस्क का बड़ा दावा
evm can be hacked elon musk sought elimination electronic voting machines
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,वाशिंगटनSat, 15 Jun 2024 10:57 PM
ऐप पर पढ़ें

दुनिया की सबसे अमीर शख्सियतों में शुमार टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलन मस्क ने शनिवार को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को लेकर चौंकाने वाला दावा किया। उन्होंने कहा कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है और इसे खत्म किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने अमेरिकी चुनावों से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को हटाने की मांग की। स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क की यह टिप्पणी अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए स्वतंत्र उम्मीदवार रॉबर्ट एफ. कैनेडी जूनियर की एक पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए आई।

दरअसल कैनेडी जूनियर ने अपनी पोस्ट में प्यूर्टो रिको के प्राथमिक चुनावों में ईवीएम से संबंधित कथित मतदान अनियमितताओं के बारे में बताया था। एक्स पर एक पोस्ट में कैनेडी जूनियर ने कहा, "एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार, प्यूर्टो रिको के प्राथमिक चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से संबंधित सैकड़ों मतदान अनियमितताएं देखी गईं। सौभाग्य से, वहां एक पेपर ट्रेल था, इसलिए समस्या की पहचान की गई और वोटों की गिनती को सही किया गया। सोचिए उन क्षेत्रों में क्या होता होगा जहां कोई पेपर ट्रेल नहीं है?" केनेडी जूनियर ने कहा कि अमेरिकी नागरिकों के लिए यह जानना आवश्यक है कि उनके प्रत्येक वोट की गणना की गई है और उनके चुनावों में कोई सेंध नहीं लगाई जा सकती।

उन्होंने आगे कहा कि चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक हस्तक्षेप से बचने के लिए उन्हें पेपर बैलेट पर वापस लौटना होगा। एक्स पर कैनेडी जूनियर की पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए, एलन मस्क ने कहा कि हमें इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को खत्म कर देना चाहिए। इस पोस्ट को शेयर करते हुए एलन मस्क ने लिखा, "हमें इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को खत्म कर देना चाहिए। मनुष्यों या एआई द्वारा हैक किए जाने का जोखिम, हालांकि छोटा है, लेकिन फिर भी बहुत अधिक है।"

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) क्या हैं?

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें (ईवीएम) एक प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस हैं, जिनका इस्तेमाल चुनावों में मतों को रिकॉर्ड करने और गिनने के लिए किया जाता है। इन मशीनों का मुख्य उद्देश्य मत प्रक्रिया को सरल, तेज और विश्वसनीय बनाना है। भारत में ईवीएम का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के चुनावों में किया जाता है, जैसे कि लोकसभा, विधानसभा और पंचायत चुनाव शामिल हैं।

ईवीएम दो प्रमुख इकाइयों से मिलकर बनती हैं:

कंट्रोल यूनिट (Control Unit): यह वह यूनिट है जहां चुनाव अधिकारी मतदान प्रक्रिया को नियंत्रित करते हैं। इसमें विभिन्न बटन होते हैं जिनका इस्तेमाल मतदान शुरू करने, बंद करने और मतगणना करने के लिए किया जाता है।

बैलेट यूनिट (Ballot Unit): यह वह यूनिट है जहां मतदाता अपने मत को दर्ज करते हैं। इस यूनिट में उम्मीदवारों के नाम और प्रतीकों के सामने बटन होते हैं। मतदाता अपने पसंदीदा उम्मीदवार के सामने वाले बटन को दबाकर अपना वोट दर्ज कर सकते हैं।

भारत में ईवीएम ने चुनावी प्रक्रिया को अधिक पारदर्शी, सुरक्षित और कुशल बनाया है, जिससे मतदाताओं का विश्वास भी बढ़ा है। हालांकि विपक्ष ईवीएम को लेकर अक्सर सवाल खड़े करता रहा है। विपक्ष की मांग है कि ईवीएम में और सुधार कर इसे अधिक से अधिक पारदर्शी बनाया जाए।