ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली के विधायकों ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, जलसंकट सुलझाने के लिए की यह मांग

दिल्ली के विधायकों ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, जलसंकट सुलझाने के लिए की यह मांग

पांडे ने कहा, यह पूरा मामला हरियाणा, हिमाचल, दिल्ली और यूपी के बीच का है। इस मामले में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री सीआर पाटिल जी को दख़ल देना चाहिए, जिससे दिल्ली वालों को जल्द ही राहत मिल सके।

दिल्ली के विधायकों ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, जलसंकट सुलझाने के लिए की यह मांग
Sourabh JainPTI,नई दिल्लीSat, 15 Jun 2024 04:56 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में व्याप्त पानी के भयानक संकट को देखते हुए दिल्ली विधानसभा के मुख्य सचेतक और आम आदमी पार्टी के विधायक दिलीप पांडे ने दिल्ली के सभी विधायकों की ओर से केंद्रीय जल शक्ति मंत्री सीआर पाटिल को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में भीषण गर्मी के बीच जल संकट को हल करने के लिए हस्तक्षेप करते हुए राज्यों के बीच समन्वय कराने की मांग की है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से मिलने के लिए कल यानी रविवार को समय भी मांगा है।

स्थिति को बहुत गंभीर बताते हुए दिल्ली विधानसभा में AAP के मुख्य सचेतक दिलीप पांडे ने शनिवार को कहा कि यमुना जल मुद्दा एक अंतर-राज्यीय मुद्दा है, जिसके लिए जल शक्ति मंत्रालय के समन्वय की आवश्यकता है। 

पांडे ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'पूरा मामला राज्यों के बीच समन्वय से जुड़ा है और केंद्र के हस्तक्षेप के बिना कोई समाधान नहीं निकलेगा।' AAP नेता ने यह भी कहा कि इस मुद्दे पर राजनीति करने की बजाय, सभी दलों को जल संकट को हल करने और दिल्ली के लोगों को राहत प्रदान करने के लिए समाधान खोजने पर काम करना चाहिए। 

दिल्ली की आम आदम पार्टी सरकार ने भाजपा शासित हरियाणा पर यमुना के पानी में दिल्ली के हिस्से को रोकने का आरोप लगाया है। दिल्ली की जल मंत्री आतिशी ने दावा किया है कि यमुना से पानी की पर्याप्त आपूर्ति नहीं होने के कारण शहर में पानी का स्तर लगातार कम हो रहा है। पांडे ने भी भाजपा सरकार पर इस मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि हरियाणा और उत्तर प्रदेश में नदी में अवैध रेत खनन से छोटे बांधों के माध्यम से पानी का प्रवाह बाधित हो रहा है।

पत्र में लिखा है यह सब

दिल्ली विधानसभा के विधायकों की ओर से केंद्रीय जल शक्ति मंत्री को लिखे पत्र में दिलीप पांडे ने लिखा, 'मैं आपको राष्ट्रीय राजधानी में पानी की कमी के मुद्दे की गंभीरता से अवगत कराने के लिए यह पत्र लिख रहा हूं। दिल्ली में अभूतपूर्व गर्मी पड़ रही है, जिसके परिणामस्वरूप राष्ट्रीय राजधानी में पानी की भारी कमी हो गई है। पानी की मांग अब तक के अधिकतम स्तर पर है। दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी है और पूरे भारत से लोग बेहतर अवसरों की तलाश में यहां आते हैं। हमने हर व्यक्ति को हमेशा प्यार और देखभाल के साथ समायोजित किया है। हालांकि, यह देखना निराशाजनक है कि संकट के ऐसे समय में हमें केंद्र से अभी तक पर्याप्त सहायता नहीं मिली है।
हम हिमाचल प्रदेश के बहुत आभारी हैं कि उन्होंने अपना अतिरिक्त पानी दिल्ली के साथ साझा करने पर सहमति जताई है। हालांकि, अंतरराज्यीय मामला होने के कारण दिल्ली को पानी नहीं मिल पा रहा है। स्थिति इतनी गंभीर हो गई है कि इस मुद्दे को हल करने के लिए केंद्र से तत्काल हस्तक्षेप की आवश्यकता है। मैं आपसे विनम्रतापूर्वक अनुरोध करता हूं कि कृपया हमें अधिक पानी दिलाने के लिए उत्तर भारत के सभी राज्यों के साथ समन्वय करें।
हम विधायकों का समूह जो दिल्ली के लोगों की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं, आपसे तत्काल आधार पर मिलना चाहते हैं। चूंकि दिल्ली में स्थिति बिगड़ रही है और आपके हस्तक्षेप की यहां तत्काल आवश्यकता है, इसलिए हम दिल्ली के विधायक कल आपसे मिलना चाहते हैं और आपको चल रहे संकटों से अवगत कराना चाहते हैं ताकि हम इस मामले में समय पर हस्तक्षेप कर सकें। आपकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार रहेगा। धन्यवाद। सादर (दिल्ली विधानसभा के सभी विधायकों की ओर से)'