ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRपुलिस, अस्पताल ने नहीं बताया, PM इंसाफ दिलवाएं; अग्निकांड में मरे बच्चों के पिता का दर्द

पुलिस, अस्पताल ने नहीं बताया, PM इंसाफ दिलवाएं; अग्निकांड में मरे बच्चों के पिता का दर्द

Delhi Baby Care Centre Fire Tragedy : इस अग्निकांड में मरी12 दिन की एक बच्ची के पिता अंजन ने कहा, 'मुझे पता नहीं चला। एक दोस्त ने सूचना दी। ना तो अस्पताल और ना ही पुलिस ने हमें सूचना दी।

पुलिस, अस्पताल ने नहीं बताया, PM इंसाफ दिलवाएं; अग्निकांड में मरे बच्चों के पिता का दर्द
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 26 May 2024 04:23 PM
ऐप पर पढ़ें

Delhi Baby Care Centre Fire Tragedy : दिल्ली के विवेक विहार इलाके में बेबी केयर सेंटर में आग की घटना से हड़कंप मचा हुआ है। मृतक बच्चों के परिजन बेहाल हैं। मीडिया से बातचीत में मृतक बच्चों के दर्द छलका आया। इस अग्निकांड में मरी 12 दिन की एक बच्ची के पिता अंजन ने कहा, 'मुझे पता नहीं चला। एक दोस्त ने सूचना दी। ना तो अस्पताल और ना ही पुलिस ने हमें सूचना दी। मैंने अस्पताल में फोन भी किया था लेकिन कोई जवाब नहीं मिला है। मैं यहां भाग कर आया। बच्ची की मौत हो चुकी थी। मैं बेबी केयर सेंटर को जिम्मेदार मानता हूं तथा उस अस्पताल को भी जिसने हमें यहां भेजा था। मैं सभी बच्चों के लिए न्याय चाहता हूं। मैं प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से अपील करना चाहता हूं कि वो न्याय सुनिश्चित करें। मैंने बच्ची के लिए पैसे बचाए थे। मुझे नहीं पता था कि वो मर जाएगी।'

 इस कांड में अपने 10 दिन के बच्चे को खोने वाले पिता रितिक ने कहा, 'मैं बुलंदशहर से हूं। बच्चे को यहां रेफर किया गया था। उसने ऑक्सीजन की समस्या थी। मुझे न्यूज से घटना के बारे में जानकारी मिली। बच्चा 9 दिनों का था। मैंने 70,000-80,000 रुपये गंवाए। अस्पताल जिम्मेदार है। उन्होंने खुद को बचाया और बच्चों को छोड़ दिया।

इंसाफ का इंतजार कर रहे परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। इस बीच दिल्ली के उप राज्यपाल वीके सक्सेना ने मुख्य सचिव को पूर्व दिल्ली के विवेक विहार में इस अग्निकांड की जांच के आदेश दिए हैं। इसी के साथ उन्होंने भरोसा भी दिलाया है कि इस अग्निकांड के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। 'बेबी केयर न्यू बॉर्न' नाम के इस अस्पताल में आग की घटना सभी को हैरान कर दिया है।

ऐक्शन में बाल संरक्षण आयोग

इस भयानक घटना के बाद राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग National Commission for Protection of Child Rights (NCPCR)की एक टीम भी घटनास्थल पर पहुंची। आयोग की सदस्य प्रीति भारद्वाज दलाल ने कहा, 'बहुत दुर्भाग्यपूर्ण, किसी की भी आंख में आंसू आ जाएंगे। मैं उस जगह पर हूं जहां घटना हुई है। हम NCPCR की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी से हैं। हम यह देखेंगे कि क्या हुआ था और क्या कदम उठाए जाने की जरूरत है। हम जल्द ही अपनी सिफारिशें आयोग को भेजेंगे।' 

PM ने क्या कहा...

इस घटना को लेकर पीएम मोदी ने एक्स पर कहा 'दिल्ली के एक अस्पताल में आग लगने की घटना हृदय विदारक है। इस कठिन समय में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं इस हादसे में घायल हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'