DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुलंदशहर हिंसा: बजरंगदल नेता योगेश राज के खिलाफ नहीं मिले हिंसा के सबूत

Yogesh Raj

एसआईटी और एसटीएफ की अब तक की जांच में बजरंगदल के जिला संयोजक योगेश राज के खिलाफ बुलंदशहर हिंसा के कोई सबूत नहीं पाए गए हैं। सभी वीडियो में वह सिर्फ पुलिस अधिकारियों से बातचीत और भीड़ को शांत करता दिख रहा है। अफसर मान रहे हैं कि योगेश राज भीड़ को उकसाने का दोषी जरूर हो सकता है, लेकिन हिंसा करने जैसे सुबूत उसके खिलाफ नहीं मिले हैं। माना जा रहा है कि ठोस सबूत हासिल नहीं होने की वजह से ही पुलिस अधिकारी उसकी गिरफ्तारी से बच रहे हैं।

तीन नवंबर को गोकशी के बाद बुलंदशहर में हुई हिंसा में योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाया गया है। सब इंस्पेक्टर सुरेश चंद की ओर से दर्ज कराए मुकदमे में नामजद 27 लोगों की सूची में योगेश का नाम पहले नंबर पर है। मेरठ रेंज आईजी रामकुमार वर्मा के नेतृत्व में एसआईटी हिंसा की जांच कर रही है। वहीं एसटीएफ को नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी में लगाया है।

सूत्रों ने बताया, एसआईटी को इस केस में अब तक 50 से ज्यादा वीडियो प्राप्त हुई हैं। किसी भी वीडियो में योगेश राज द्वारा हिंसा करने जैसे सुबूत नहीं पाए गए हैं। सिर्फ चार-पांच वीडियो में वह दिख रहा है। एक वीडियो में स्याना सीओ सत्यप्रकाश शर्मा उसे शांत कर एक तरफ ले जाते हुए दिख रहे हैं। दूसरी वीडियो में योगेश राज भीड़ को शांत होने के लिए बोल रहा है। पथराव, आगजनी से जुड़ी किसी भी वीडियो में वह मौजूद नहीं पाया गया है। इन सब चीजों को देखते हुए पुलिस योगेश को गिरफ्तार नहीं कर रही है। हालांकि कहने को उसकी गिरफ्तारी में पूरे मेरठ जोन की पुलिस और एसटीएफ लगी हुई है। सूत्रों का दावा है कि योगेश को जल्द हिंसा के आरोपों से क्लीन चिट दी जा सकती है।

बुलंदशहर हिंसा: आरोपी योगेश राज ने कहा- 'संगठन जब कहेगा, तब करूंगा सरेंडर'

नेता के यहां शरण लिए है योगेश:
सूत्रों ने बताया कि बजरंगदल नेता योगेश राज दिल्ली में छिपा हुआ है। सूत्र यह भी बता रहे हैं कि वह एक बड़े नेता के यहां शरण लिए हुए है इसलिए पुलिस उस पर हाथ डालने से फिलहाल बच रही हैश पुलिस को ऐसे मौके की तलाश है जब योगेश अकेला हो और उसे पकड़ा जा सके।

आईजी मेरठ रामकुमार वर्मा ने बताया कि अभी तक की जांच में योगेश राज की भूमिका हिंसा में सामने नहीं आई है। जबकि घटनास्थल के कई वीडियो में उसकी मौजूदगी साबित हो रही है। वह हमारे लिए वांटेड है, उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

बुलंदशहर हिंसा: जानिये कौन है इंस्पेक्टर की हत्या के शक में गिरफ्तार हुआ फौजी जीतू

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police did not get any evidence against Yogesh Raj for creating violence in Bulandshahr