ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशहीरा कारोबारी का बैग उड़ाने बाहर से आई गैंग, ध्यान भटकाकर लगाई करोड़ों की चपत

हीरा कारोबारी का बैग उड़ाने बाहर से आई गैंग, ध्यान भटकाकर लगाई करोड़ों की चपत

आगरा में हीरा कारोबारी नितिन मेहरोत्रा की कार से बैग उड़ाने वाला टप्पेबाजों का गैंग बाहर का लग रहा है। गैंग में चार से पांच युवक शामिल हैं। गैंग सदस्य कोठी मीना बाजार मैदान की तरफ से पैदल-पैदल आए थे।

हीरा कारोबारी का बैग उड़ाने बाहर से आई गैंग, ध्यान भटकाकर लगाई करोड़ों की चपत
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराMon, 17 Jun 2024 07:30 AM
ऐप पर पढ़ें

आगरा के मदिया कटरा (लोहामंडी) पर शनिवार की रात हीरा कारोबारी नितिन मेहरोत्रा की कार से बैग उड़ाने वाला टप्पेबाजों का गैंग बाहर का प्रतीत हो रहा है। गैंग में चार से पांच युवक शामिल हैं। गैंग के सदस्य कोठी मीना बाजार मैदान की तरफ से पैदल-पैदल आए थे। रास्ते में एक-दो और लोगों के साथ घटना का प्रयास किया था। शातिर सीसीटीवी में कैद हैं। पुलिस कैमरों की मदद से आरोपियों की तलाश कर रही है। अच्छी बात यह है कि कारोबारी का पांच करोड़ का बीमा है। यह जानकारी उन्होंने पुलिस को दी।

रात करीब साढ़े आठ बजे परिणय कुंज, बाग फरजाना निवासी नितिन मेहरोत्रा के साथ घटना हुई थी। एमजी रोड स्थित हेरीटेज टॉवर में उनकी प्रकाश डायमंड कारपोरेशन के नाम से फर्म है। दुकान से वह लैपटॉप, 1 लाख नकद, हीरे और सोने के जेवरात लेकर निकले थे। जेवरात के 36 नग थे। जिसकी कीमत करीब एक करोड़ रुपये है। पहले वह साकेत कॉलोनी गए।

वहां फिजियोथैरपी कराई। उसके बाद जयपुर हाउस गए। वहां से वापस घर आ रहे थे। मदिया कटरा पर एक युवक ने कार का शीशा खटखटाया। कहा कि पहिए में हवा नहीं है। वह हवा देखने लगे। इसी दौरान एक युवक और आया। वह उसने भीख मांगने लगा। उनका ध्यान भटक गया। इसी दौरान शातिर कार से बैग लेकर भाग गया। राहगीर ने उन्हें बताया।

आयकर विभाग की छापेमारी में पकड़े करोड़ों की बरामदगी का मांग रहे हिसाब, ये रडार पर

सीसीटीवी में पांच संदिग्ध चिह्नित
एसओ लोहामंडी कुशलपाल सिंह ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज देखे गए। पांच संदिग्ध चिन्हित किए गए हैं। बैग लेकर भागने वाला युवक भी कैमरे में कैद है। पूरा गैंग है। गैंग आगरा से बाहर का लग रहा है। पुलिस कैमरों से उनका पीछा कर रही है। कारोबारी ने पूछताछ में बताया कि उनके माल का पांच करोड़ का बीमा है। सोना बेचना आसान है। हीरे आराम से नहीं बिक पाते। पुलिस ने मुखबिर सक्रिय कर दिए हैं। गैंग चिन्हित करने के लिए दो टीमें लगी हुई हैं। जल्द कोई न कोई सुराग मिलेगा।

Advertisement