ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशकैंटर-ट्रक में भीषण टक्कर, 6 मौत और 22 घायल, ईद मनाने घर लौट रहे थे मजदूर, खुशियों की जगह पसरा मातम

कैंटर-ट्रक में भीषण टक्कर, 6 मौत और 22 घायल, ईद मनाने घर लौट रहे थे मजदूर, खुशियों की जगह पसरा मातम

उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में ईद मनाने घर जा रहे ईट भट्ठे पर काम करने वाले मजदूर से भरा कैंटर भीषण हादसे का शिकार हो गया। इसमें सवार 6 लोगों की मौत हो गई जबकि 22 लोग जख्मी हो गए हैं।

कैंटर-ट्रक में भीषण टक्कर, 6 मौत और 22 घायल, ईद मनाने घर लौट रहे थे मजदूर, खुशियों की जगह पसरा मातम
school bus accident
Ratanहिंदुस्तान,मुरादनगरMon, 17 Jun 2024 08:16 AM
ऐप पर पढ़ें

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस पर गांव रेवड़ा-रेवड़ी के नजदीक देर रात तेज रफ्तार ट्रक ने सड़क किनारे खड़े कैंटर में पीछे से टक्कर मार दी। इस भीषण हादसे में कैंटर में सवार मां-बेटे सहित कुल छह लोगों की मौत हो गई है। कैंटर में सवार अन्य 22 लोग घायल हुए हैं। इनमें से कुछ की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। 

टक्कर इतनी भीषण थी कि ट्रक के परखच्चे उड़ गए हैं। साथ ही कैंटर के पलटने से उसकी भी हालत खस्ता हो गई है। इस हादसे में कुल छह मौतों के अलावा 22 अन्य लोग भी घायल हुए हैं। कई की हालत काफी गंभीर है। बताया जा रहा है कि कैंटर में सवार सभी लोग हरियाणा से शाहजहांपुर और हरदोई जा रहे थे। कैंटर में सवार सभी 37 लोग बकरीद मनाने घर जा रहे थे।  जिला हरदोई और शाहजहांपुर निवासी कई परिवार हरियाणा के जिला सोनीपत के गन्नौर में ईट-भट्टे पर मजदूरी करते हैं। 

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मृतकों को पोस्टमार्टम के लिए तो वहीं घायलों को उपचार के लिए असपताल भेज दिया है। इसी के साथ मृतकों और घायलों के परिवार वालों को भी सूचित कर दिया गया है। घरवाले इस हादसे की सूचना से अभी तक सदमें में हैं। घायलों ने बताया कि ईट भट्ठे पर काम करने वाले हम सभी मजदूरों को उनके मालिक ने कई दिन पहले ही मेहनताना दे दिया था। सभी मजदूर खुश थे और ईद मनाने के लिए अपने परिवार के अन्य लोगों से मिलने-जुलने अपने शहर जा रहे थे। ईद के लिए मजदूरों ने अपने रिश्तेदारों और परिवारवालों के लिए तोहफे और अन्य सामान भी खरीदे थे, लेकिन यह खुशी ज्यादा देर तक रह न सकी। इस भीषण हादसे ने छह मासूम लोगों की जान ले ली। अकेले रह गए उनके परिवार वाले, रोते-बिलखते। खुशी का माहौल मातम में बदल गया है। परिवार वालों का रो रो कर बुरा हाल है।