ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशGood News: यूपी के मेडिकल कॉलेजों को मिले 2000 जूनियर डॉक्टर, पहली बार सेवा बॉन्ड के तहत तैनाती

Good News: यूपी के मेडिकल कॉलेजों को मिले 2000 जूनियर डॉक्टर, पहली बार सेवा बॉन्ड के तहत तैनाती

UP Medical Colleges: यह पहला मौका है जब प्रदेश में एमबीबीएस पूरी करने वालों को बांड के तहत मेडिकल कॉलेजों में भेजा गया है। हर मेडिकल कॉलेज को 40 से 50 तक नये डॉक्टर दो साल के लिए मिल गए हैं।

Good News: यूपी के मेडिकल कॉलेजों को मिले 2000 जूनियर डॉक्टर, पहली बार सेवा बॉन्ड के तहत तैनाती
Ajay Singhविशेष संवाददाता,लखनऊMon, 17 Jun 2024 07:23 AM
ऐप पर पढ़ें

Medical colleges of UP: चिकित्सा स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश के सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों को करीब दो हजार नये जूनियर डॉक्टर मिल गए हैं। इन डॉक्टरों को सरकारी सेवा बांड के तहत तैनाती दी गई है। यह पहला मौका है जब प्रदेश में एमबीबीएस पूरी करने वालों को बांड के तहत मेडिकल कॉलेजों में भेजा गया है। हर मेडिकल कॉलेज को 40 से 50 तक नये डॉक्टर दो साल के लिए मिल गए हैं। किताबी ज्ञान के बाद अब इन डॉक्टरों को हर तरह के मरीजों के इलाज से व्यवहारिक ज्ञान भी मिल सकेगा।

प्रदेश में अभी तक सरकारी सेवा बांड के तहत एमडी और एमएस करने वालों को ही मेडिकल कॉलेजों में तैनात किया जाता था। मगर पहली बार 2018 बैच के एमबीबीएस करने वाले छात्र-छात्राओं को मेडिकल कॉलेजों में भेजा गया है। काउंसलिंग के जरिए भेजे गए यह जूनियर डॉक्टर दो साल तक नि:शुल्क सेवाएं देंगे। चिकित्सा शिक्षा महानिदेशालय द्वारा इन छात्रों की तैनाती दे लिए गत 22 मई से काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू की थी। पहले 28 मई तक इनका ऑनलाइन पंजीकरण कराया गया। फिर उनके अभिलेखों का ऑनलाइन सत्यापन किया गया। 

पंजीकृत अभ्यर्थियों के मेरिट लिस्ट प्रकाशन के बाद सीट आवंटन का परिणाम घोषित किया गया। उसके बाद उन्हें कॉलेज आवंटित कर दिए गए। यह पूरी प्रक्रिया 10 जून तक चली। इन डॉक्टरों को अब मेडिकल कॉलेजों में आने वाले तमाम मरीजों के इलाज के दौरान सीनियर डॉक्टरों से व्यवहारिक ज्ञान मिल सकेगा। वहीं मेडिकल कॉलेजों को भी मुफ्त में इन डॉक्टरों की सेवाएं मिल सकेंगी।

Advertisement