यह नवरत्न कंपनी कर रही महारत्न बनने की तैयारी, शेयर खरीदने को मची होड़

  • IREDA Share Price: इंडियन रिन्युबल एनर्जी डेवलपमेंट लिमिटेड को पिछले महीने सरकार द्वारा नवरत्न का दर्जा दिया गया था। महारत्न का दर्जा पाने के लिए IREDA ने कुछ लक्ष्य निर्धारित किए हैं, जिन्हें वह वित्तीय वर्ष 2030 तक हासिल करना चाहती है।

Drigraj Madheshia नई दिल्ली, हिन्दुस्तान संवाददाताMon, 27 May 2024 10:25 AM
ट्रेड

इंडियन रिन्युबल एनर्जी डेवलपमेंट लिमिटेड (IREDA) लिमिटेड का इरादा वित्तीय वर्ष 2030 तक "महारत्न" पीएसयू बनने का है। यह सरकारी दिशानिर्देशों और लागू अनुमोदन के अधीन है। कंपनी द्वारा एक एक्सचेंज फाइलिंग में यह कहा गया है। बता दें कंपनी को पिछले महीने सरकार द्वारा "नवरत्न" का दर्जा दिया गया था। शुरुआती कारोबार में इसके शेयर 5 फीसद उछल गए थे।

शुक्रवार को जहां IREDA के शेयर 1.7% गिरकर बंद हुए थे, वहीं आज यानी सोमवार सुबह 10 बजे 3.75 फीसद ऊपर 193 रुपये करीब ट्रेड कर रहा थे। पिछले 5 दिन में यह स्टॉक करीब 7 फीसद चढ़ा है। जबकि, पिछले छह महीन में ही इसने अपने निवेशकों को तीन गुना से अधिक फायदा करा चुका है। पिछले एक साल में यह 220 पर्सेंट उछला है।

महारत्न का दर्जा पाने के लिए क्या करेगी कंपनी

महारत्न का दर्जा पाने के लिए IREDA ने कुछ लक्ष्य निर्धारित किए हैं ,जिन्हें वह वित्तीय वर्ष 2030 तक हासिल करना चाहती है। कंपनी का इरादा वित्त वर्ष 2030 तक अपने वार्षिक डिस्बर्समेंट को 5 गुना से अधिक बढ़ाकर ₹1.36 लाख करोड़ करने का है। वित्त वर्ष 2024 के अंत तक IREDA का डिस्बर्समेंट ₹25,089 करोड़ था, जो वित्त वर्ष 2023 की तुलना में 15% की वृद्धि है।

वित्त वर्ष 2030 के अंत तक IREDA का इरादा लगभग ₹3.5 लाख करोड़ का लोन बुक बनाने का है। यह फाइनेंशियल ईयर 2024 की ₹59,650 करोड़ के लोन बुक से 6 गुना अधिक है।

महारत्न के रूप में क्लासिफायड होने के लिए कंपनी को "नवरत्न" का दर्जा प्राप्त होना चाहिए। यह न्यूनतम शेयरधारिता मानदंडों के अनुरूप होना चाहिए और पिछले तीन वर्षों में उसका औसत वार्षिक कारोबार ₹25,000 करोड़ से अधिक होना चाहिए।

एक महारत्न पीएसयू के रूप में आईआरईडीए के पास अन्य कैटेगरी के पीएसयू की तुलना में स्वायत्तता और अधिकार में वृद्धि होगी। एक महारत्न पीएसयू सरकार की पूर्व अनुमति के बिना किसी परियोजना में अपनी कुल संपत्ति का 15% निवेश कर सकता है।

इसके अलावा 30 मई को पांच और छह महीने की लॉक-इन अवधि समाप्त होने पर IREDA के लगभग 147.8 करोड़ शेयर ट्रेडिंग के लिए पात्र हो जाएंगे। शेयरों की संख्या कंपनी की बकाया इक्विटी का 55% है।

ऐप पर पढ़ें