DA Image
हिंदी न्यूज़ › पश्चिम बंगाल › पश्चिम बंगाल के उपचुनाव में हिंसा का डर? सीपीएफ की 37 और कंपनियां की जाएंगी तैनात
पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल के उपचुनाव में हिंसा का डर? सीपीएफ की 37 और कंपनियां की जाएंगी तैनात

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली Published By: Nootan Vaindel
Fri, 17 Sep 2021 08:19 AM
पश्चिम बंगाल के उपचुनाव में हिंसा का डर? सीपीएफ की 37 और कंपनियां की जाएंगी तैनात

पश्चिम बंगाल में होने वाले उपचुनाव की तैयारी लगातार चल रही है। पिछले चुनाव के दौरान हुई हिंसा को देखते हुए इस बार सभी सावधानियां बरती जा रही हैं। चुनाव आयोग के सूत्रों ने गुरुवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में भबनीपुर, समसेरगंज और जंगीपुर उपचुनाव के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की 37 और कंपनियां तैनात की जाएंगी।

बता दें कि इससे पहले चुनाव आयोग ने चुनाव के लिए सीएपीएफ की 15 कंपनियां तैनात की थीं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी ने 10 सितंबर को भवानीपुर सीट पर उपचुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल किया। बीजेपी ने भवानीपुर सीट से ममता बनर्जी के आगे प्रियंका टिबरेवाल को उतारा है। इसके अलावा कांग्रेस ने किसी को भी न उतारकर टीएमसी को साफ रास्ता दिया है।

भवानीपुर सीट पर 30 सितंबर को चुनाव होंगे। चुनाव आयोग ने यह भी कहा कि इसी तारीख को पश्चिम बंगाल के समसेरगंज और जंगीपुर और ओडिशा के पिपली निर्वाचन क्षेत्र में भी उपचुनाव होंगे। मतों की गिनती 3 अक्टूबर को होगी।

भवानीपुर उपचुनाव मुख्य रूप से टिबरेवाल और बनर्जी के बीच होगा क्योंकि कांग्रेस ने 8 सितंबर को घोषणा की थी कि पार्टी उपचुनाव के लिए कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगी।

संबंधित खबरें