ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ पश्चिम बंगालमहिला हो, रेप पीड़िता का दर्द समझो... ममता बनर्जी को NCW ने घेरा, नादिया कांड को लेकर दिया था विवादित बयान

महिला हो, रेप पीड़िता का दर्द समझो... ममता बनर्जी को NCW ने घेरा, नादिया कांड को लेकर दिया था विवादित बयान

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नदिया जिले के हंसखाली में कथित सामूहिक बलात्कार और 14 वर्षीय लड़की की मौत पर राज्य सरकार से सोमवार को जवाब मांगा।

महिला हो, रेप पीड़िता का दर्द समझो... ममता बनर्जी को NCW ने घेरा, नादिया कांड को लेकर दिया था विवादित बयान
Himanshu Jhaएजेंसियां,नई दिल्ली, कोलकाता।Wed, 13 Apr 2022 09:07 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पश्चिम बंगाल के नदिया में कथित सामूहिक बलात्कार और एक नाबालिग की मौत को लेकर काफी विवाद बढ़ गया है। इस बीच राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को इस मामले पर उनकी टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। रेखा शर्मा ने मंगलवार को न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, "घटना पर सीएम ममता बनर्जी का बयान बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। एक महिला होने के नाते उन्हें दूसरी महिला का दर्द समझना चाहिए। उन्होंने पीड़िता पर उंगली उठाई, यह गलत था।" 

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को सवाल किया कि क्या लड़की के साथ वास्तव में बलात्कार हुआ था या उसके प्रेम संबंध थे जिससे वह गर्भवती हुई? ममता ने कहा था, "आप कैसे जानते हैं कि उसके साथ बलात्कार किया गया था? पुलिस अभी तक मौत के कारण का पता नहीं लगा पाई है। मैंने उनसे पूछा था। क्या वह गर्भवती थी या प्रेम संबंध था या बीमार थी? यहां तक ​​​​कि परिवार भी जानता था कि यह एक प्रेम संबंध था। अगर एक युगल एक रिश्ते में है, मैं उन्हें कैसे रोक सकती हूं?"

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नदिया जिले के हंसखाली में कथित सामूहिक बलात्कार और 14 वर्षीय लड़की की मौत पर राज्य सरकार से सोमवार को जवाब मांगा।

कलकत्ता हाईकोर्ट ने मंगलवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को हंसखाली बलात्कार मामले की जांच की अनुमति दे दी।

इस महीने की शुरुआत में पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के बाद एक 14 वर्षीय लड़की की मौत हो गई थी। पीड़ित परिवार ने मामले में तृणमूल कांग्रेस के एक पंचायत नेता के बेटे पर आरोप लगाया है। मामले में आईपीसी की धारा 376 (2) (जी) (सामूहिक बलात्कार), 302 (हत्या), 204 (सबूत के साथ छेड़छाड़) और पॉक्सो अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

epaper