DA Image
हिंदी न्यूज़ › पश्चिम बंगाल › शुभेंदु अधिकारी के करीबी पर HC का ममता सरकार को आदेश, तुरंत करो रिहा, इजाजत के बिना ना हो FIR
पश्चिम बंगाल

शुभेंदु अधिकारी के करीबी पर HC का ममता सरकार को आदेश, तुरंत करो रिहा, इजाजत के बिना ना हो FIR

हिन्दुस्तान ,कोलकाताPublished By: Surya Prakash
Mon, 02 Aug 2021 02:46 PM
शुभेंदु अधिकारी के करीबी पर HC का ममता सरकार को आदेश, तुरंत करो रिहा, इजाजत के बिना ना हो FIR

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। फर्जी सरकारी नौकरी घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किए गए बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी के करीबी सहयोगी राखल बेरा को अदालत ने तत्काल रिहा करने का आदेश दिया है। यही नहीं कोर्ट ने ममता बनर्जी सरकार से कहा है कि उनके खिलाफ आगे कोई भी एफआईआर दाखिल नहीं होनी चाहिए।

यदि ऐसा करना है तो फिर उसके लिए कोर्ट से परमिशन लेनी होगी। शुभेंदु अधिकारी पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता विपक्ष हैं और अकसर टीएमसी सरकार के निशाने पर रहते हैं। एक दौर में ममता बनर्जी के सिपहसालार रहे शुभेंदु ने नंदीग्राम विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था और ममता बनर्जी को उनके सामने हार का सामना करना पड़ा था।

जून में पश्चिम बंगाल पुलिस ने सुजीत डे नाम के शख्स की ओर से दायर शिकायत आधार पर राखल बेरा को गिरफ्तार किया गया था। डे ने अपनी शिकायत में राखल बेरा और कुछ अन्य लोगों पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उनके साथ सरकारी नौकरी का वादा कर ठगी की गई थी। उन्हें सिंचाई एवं वाटरवेज डिपार्टमेंट में नौकरी दिलाने का वादा किया गया था। शिकायत में कहा गया था कि राखल बेरा ने कोलकाता की एक सोसायटी में स्थित फ्लैट में एक कैंप आयोजित किया था। इसमें लोगों से नौकरियों का वादा किया गया था। जुलाई 2019 से सितंबर 2019 के दौरान यह कैंप लगा था। 

संबंधित खबरें