DA Image
हिंदी न्यूज़ › पश्चिम बंगाल › कोलकाता में बारिश से बुरा हाल, अस्पतालों और एयरपोर्ट पर भी भरा पानी, 14 सालों में पहली बार इतनी बरसात
पश्चिम बंगाल

कोलकाता में बारिश से बुरा हाल, अस्पतालों और एयरपोर्ट पर भी भरा पानी, 14 सालों में पहली बार इतनी बरसात

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली Published By: Nootan Vaindel
Tue, 21 Sep 2021 11:24 AM
कोलकाता में बारिश से बुरा हाल, अस्पतालों और एयरपोर्ट पर भी भरा पानी, 14 सालों में पहली बार इतनी बरसात

कोलकात में भारी बारिश के बाद कई इलाकों में पानी भर गया है। परिवहन सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हो गई है. कोलकाता में सितंबर के महीने में 14 सालों में पहली बार इतनी ज्यादा बारिश देखी गई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने भविष्यवाणी की है कि दक्षिण बंगाल के सभी जिलों में मंगलवार तक एक या दो बार भारी बारिश और गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होगी। कोलकाता में इतनी बारिश हुई कि यहां अस्पतालों और एयरपोर्ट पर भी पानी भर गया। नर्सों ने पानी में खड़े होकर मरीजों की देखभाल की है।

बंगाल की राजधानी के कई इलाके जैसे बालीगंज, गोल्फ ग्रीन, पामर बाजार, तोप्सिया, उल्टाडांगा, चेतला आदि में रविवार को 100 मिलीमीटर (मिमी) से अधिक बारिश हुई, जिससे यहां बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई।

अस्पतालों में भर गया पानी

सोमवार को एसएसकेएम मेडिकल कॉलेज और अस्पताल की बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर स्थित स्त्री रोग विभाग के आउट पेशेंट विभाग (ओपीडी) के साथ-साथ टिकट काउंटर में बारिश का पानी भर गया और मरीजों की देखभाल के लिए नर्सों को के गहरे पानी में उतरते देखा गया। कलकत्ता स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन में बारिश के पानी ने कीमती दवाओं और ऑक्सीजन सिलेंडर को भी नुकसान पहुंचाया।

14 साल में पहली बार इतनी बारिश

आईएमडी क्षेत्रीय कार्यालय ने कहा कि कोलकाता में 24 घंटे के अंतराल में सोमवार को सुबह 8.30 बजे तक 142 मिमी और छह घंटे की अवधि के दौरान 1 बजे से 7 बजे तक 100 मिमी से अधिक बारिश हुई। इससे पहले 25 दिसंबर 2007 में 174.4 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।

एयरपोर्ट पर भी भरा पानी

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में कोलकाता के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर भी पानी भरा दिखाई दिया। हालांकि उड़ान के समय इसका कोई असल नहीं पड़ा। तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय को स्थिति का जायजा लेने के दौरान लेक गार्डन इलाके में घुटने भर पानी में लेटे हुए देखा गया।

बारिश के कारण दिन के लिए शहर की सर्कुलर रेल रद्द कर दी गई और कई लंबी दूरी की ट्रेनों को रद्द या डायवर्ट कर दिया गया। पैदल यात्री भी प्रभावित हुए थे क्योंकि सड़कें और सबवे पर पानी भर गया था।

आईएमडी ने कहा कि लगातार बारिश बंगाल की खाड़ी से राज्य के गंगा के हिस्सों में चक्रवाती परिसंचरण की गति के कारण हुई थी, और इसके मंगलवार को भी बारिश जारी रहने की उम्मीद है।

संबंधित खबरें