ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पश्चिम बंगालमुझे ममता पर भरोसा नहीं, भाजपा को कर सकती हैं सपोर्ट; TMC के 'बाहरी समर्थन' पर अधीर चौधरी का तंज

मुझे ममता पर भरोसा नहीं, भाजपा को कर सकती हैं सपोर्ट; TMC के 'बाहरी समर्थन' पर अधीर चौधरी का तंज

अधीर रंजन का ये बयान ऐसे समय में आया है जब पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी लगातार कहती आ रही हैं कि वे विपक्षी गठबंधन INDIA की सरकार बनने पर उसका 'बाहर से समर्थन' करेंगी।

मुझे ममता पर भरोसा नहीं, भाजपा को कर सकती हैं सपोर्ट; TMC के 'बाहरी समर्थन' पर अधीर चौधरी का तंज
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताThu, 16 May 2024 02:28 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने गुरुवार को ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर लोकसभा में उनकी ज्यादा सीटें आती हैं तो वे भाजपा का समर्थन कर सकती हैं। अधीर ने कहा, "लोकसभा चुनाव में अधिक सीटें आने पर तृणमूल कांग्रेस पाला बदल लेगी और भाजपा का समर्थन कर सकती है।" अधीर रंजन का ये बयान ऐसे समय में आया है जब पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी लगातार कहती आ रही हैं कि वे विपक्षी गठबंधन INDIA की सरकार बनने पर उसका 'बाहर से समर्थन' करेंगी। 

अधीर ने कहा कि उन्हें ममता पर भरोसा नहीं है क्योंकि उन्होंने पश्चिम बंगाल में पहले ही गठबंधन तोड़ दिया है। अधीर ने ममता पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पहले से ही दूसरे गठबंधन (एनडीए) को समर्थन देने की कतार में खड़ी हैं। 20 मई को होने वाले 5वें चरण के चुनाव से ठीक पहले इंडिया गुट में दरार खुलकर सामने आ गई है।

ममता बनर्जी ने एक दिन पहले कहा था कि उनकी पार्टी "केंद्र में सरकार बनाने के लिए INDIA गठबंधन को बाहर से समर्थन देगी।" इस पर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा, "मुझे उन पर भरोसा नहीं है। वह गठबंधन छोड़कर भाग गईं। वह बीजेपी की ओर भी जा सकती हैं। मुझे उनकी बातों पर कोई भरोसा नहीं है। सबने देखा है कि गठबंधन तोड़ने वाली ममता बनर्जी हैं। वे कांग्रेस पार्टी को पूरे हिन्दुस्तान से खत्म करने की बात कर रही थीं। कह रही थीं कि कांग्रेस को 40 से ज्यादा सीटें मिलेंगी ही नहीं लेकिन अब दुहाई देना शुरू कर दिया है। उनको पता है कि कांग्रेस और अन्य गठबंधन की पार्टियां सत्ता में आ रही हैं जिससे उन्होंने (ममता) लाइन लगाना शुरू कर दिया है।"

विपक्षी इंडिया ब्लॉक के मुख्य चेहरों में से एक होने के बावजूद, ममता बनर्जी ने चुनाव से पहले घोषणा करते हुए कहा था कि उनकी पार्टी पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और सीपीएम के लिए कोई सीट नहीं छोड़ेगी और टीएमसी अकेले चुनाव लड़ेगी। इसकी वजह सीटों के बंटवारे को लेकर तृणमूल और कांग्रेस के बीच मतभेद था। तृणमूल पश्चिम बंगाल में कांग्रेस जितनी सीटें छोड़ने को तैयार नहीं थी। हालांकि बंगाल में डील फेल हो गई, लेकिन ममता इंडिया ब्लॉक से बाहर नहीं गईं।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें