ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News पश्चिम बंगालहमले के 19 दिन बाद लाव-लश्कर के साथ TMC नेता के घर पहुंची ईडी, आंसू गैस सहित दंगा गियर से लैस दिखे जवान

हमले के 19 दिन बाद लाव-लश्कर के साथ TMC नेता के घर पहुंची ईडी, आंसू गैस सहित दंगा गियर से लैस दिखे जवान

कथित तौर पर करोड़ों रुपये के राशन वितरण घोटाला मामले में अपनी जांच के सिलसिले में फरार तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख के उत्तर 24 परगना जिला स्थित आवास पर बुधवार सुबह छापेमारी शुरू हुई।

हमले के 19 दिन बाद लाव-लश्कर के साथ TMC नेता के घर पहुंची ईडी, आंसू गैस सहित दंगा गियर से लैस दिखे जवान
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताWed, 24 Jan 2024 10:26 AM
ऐप पर पढ़ें

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में अपने अधिकारियों पर हमले के 19 दिन बाद, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को एक बार फिर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता के घर पर छापा मारा। इस बार ईडी शेख शाहजहां के घर पर दंगा रोकने की स्थिति में इस्तेमाल किए जाने वाले गियर साथ लेकर गई है। ईडी के साथ केंद्रीय बल के जवानों की एक बड़ी टुकड़ी है। कथित तौर पर करोड़ों रुपये के राशन वितरण घोटाला मामले में अपनी जांच के सिलसिले में फरार तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख के उत्तर 24 परगना जिला स्थित आवास पर बुधवार सुबह छापेमारी शुरू हुई।

ईडी के अधिकारी सुबह करीब 6 बजे संदेशखाली के अकुंजीपारा में शेख शाहजहां के घर गए। इस बार ईडी टीम की सुरक्षा में लगे 125 केंद्रीय बल के जवानों ने बॉडी शील्ड और हेलमेट पहने हुए थे। वे सभी दंगा नियंत्रण करने वाला गियर पहने हुए थे, साथ ही लाठी और बंदूकों के साथ आंसू गैस के गोले भी उनके पास थे। मौके पर बड़ी संख्या में राज्य पुलिस के जवानों के साथ-साथ रैपिड एक्शन फोर्स भी मौजूद थी।

ईडी अधिकारियों ने ताला बनाने वाले की मदद से शाहजहां के घर का ताला तोड़ा और तलाशी अभियान शुरू किया। उनके साथ एक वीडियोग्राफर और दो गवाह थे। ईडी अधिकारी ने बताया कि घर में प्रवेश करने के बाद ईडी अधिकारियों ने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया और तलाशी शुरू कर दी। वे घर के हर कमरे को खोलकर तलाशी लेने की कोशिश कर रहे थे। अकुंजीपारा में शेख शाहजहां के घर पर पहुंचने के तुरंत बाद, केंद्रीय बलों ने पूरे घर की घेराबंदी कर दी, जबकि अन्य जवान इलाके में मार्च करने के लिए चले गए। उन्हें न केवल घर के सामने धमाखाली-सरबेरिया रोड पर बल्कि स्थानीय बाजार और आसपास के गांवों में भी रूट मार्च करते देखा गया।

पांच जनवरी को भीड़ ने टीएमसी नेता के आवास में प्रवेश करने की कोशिश के दौरान ईडी अधिकारियों के एक दल पर हमला कर दिया था। हमले में तीन अधिकारी घायल हो गए थे जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। जिला पुलिस और शेख के परिवार के सदस्यों ने ईडी अधिकारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। शेख अब तक फरार है। वहीं पश्चिम बंगाल पुलिस ने हमले के सिलसिले में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने घटना के बाद तीन एफआईआर दर्ज की थीं, जिनमें एक ईडी के खिलाफ भी थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें