DA Image
हिंदी न्यूज़ › पश्चिम बंगाल › नारद स्टिंग मामले में चारों TMC नेताओं को राहत, सीबीआई कोर्ट ने दी जमानत
पश्चिम बंगाल

नारद स्टिंग मामले में चारों TMC नेताओं को राहत, सीबीआई कोर्ट ने दी जमानत

लाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताPublished By: Madan Tiwari
Mon, 17 May 2021 07:18 PM
नारद स्टिंग मामले में चारों TMC नेताओं को राहत, सीबीआई कोर्ट ने दी जमानत

नारद स्टिंग मामले में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के चारों नेताओं को सोमवार शाम को राहत मिली है, जब सीबीआई कोर्ट ने उन्हें राहत दे दी। इन चारों को सुबह ही नारद स्टिंग मामले में सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। इस मामले में कुछ नेताओं द्वारा कथित तौर पर धन लिए जाने के मामले का खुलासा हुआ था। केंद्रीय जांच एजेंसी ने मामले के संबंध में तृणमूल कांग्रेस के नेता फरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी और मदन मित्रा के साथ पार्टी के शोभन चटर्जी को कोलकाता में सोमवार सुबह गिरफ्तार किया।

सीबीआई अधिकारियों ने बताया था कि ये सभी चार नेता 2014 में कथित अपराध के दौरान मंत्री थे। आईपीएस अधिकारी एसएमएच मिर्जा मामले में पांचवे आरोपी हैं और फिलहाल वह जमानत पर हैं। वहीं, केंद्रीय जांच ब्यूरों द्वारा गिरफ्तार किए जाने के तुरंत बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता में निजाम पैलेस स्थित सीबीआई के दफ्तर पहुंच गईं और तृणमूल नेताओं को रिहा करने की मांग की। हालांकि, शाम को जब वह बाहर आईं तो उन्होंने कहा कि कोर्ट फैसला करेगा। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि बनर्जी की कार्रवाई जांच का जिम्मा सीबीआई को सौंपे जाने के कलकत्ता उच्च न्यायालय के फैसले में दखल के समान है।

गिरफ्तार किए जाने के बाद दिल्ली में सीबीआई के प्रवक्ता आर सी जोशी ने कहा, ''सीबीआई ने आज पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री रहे चार (पूर्व) नेताओं को नारद स्टिंग ऑपरेशन मामले में गिरफ्तार किया...। आरोप है कि इन लोकसेवकों को स्टिंग ऑपरेशन के दौरान कैमरे पर गैरकानूनी रूप से धन लेते हुए पकड़ा गया था।'' उन्होंने बताया कि अभियोजन के लिए मंजूरी मिलने के बाद पांचों आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया जा रहा है।

सीबीआई के लिए बाधाएं उत्पन्न कर रहीं ममता: विजयवर्गीय
टीएमसी समर्थकों द्वारा राज्य भर में प्रदर्शन किए जाने की बीजेपी ने निंदा की और कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके समर्थकों को सीबीआई जांच में बाधा पहुंचाने के बजाय कानूनी लड़ाई लड़नी चाहिए। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर ममता बनर्जी पर सीबीआई जांच में बाधा उत्पन्न करने का आरोप लगाया। उन्होंने ट्वीट किया, '' राज्य में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने की शपथ लेने वालीं ममता बनर्जी कानून प्रवर्तन एजेंसियों को धमकाने में संलिप्त हो रही हैं और सीबीआई के लिए रूकावट पैदा कर रही हैं।'' बीजेपी नेता ने कहा कि यह बंगाल के लोगों के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

संबंधित खबरें