DA Image
हिंदी न्यूज़ › पश्चिम बंगाल › जेपी नड्डा ने ममता बनर्जी को बताया असहिष्णुता का दूसरा नाम, 2021 चुनाव को लेकर कही बड़ी बात
पश्चिम बंगाल

जेपी नड्डा ने ममता बनर्जी को बताया असहिष्णुता का दूसरा नाम, 2021 चुनाव को लेकर कही बड़ी बात

एजेंसी,कोलकाताPublished By: Rakesh Kumar
Wed, 09 Dec 2020 10:28 PM
जेपी नड्डा ने ममता बनर्जी को बताया असहिष्णुता का दूसरा नाम, 2021 चुनाव को लेकर कही बड़ी बात

भाजपा के मिशन पश्चिम बंगाल को धार देने के लिए पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा बुधवार को राज्य के दो दिन के दौरे पर कोलकाता पहुंचे। नड्डा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा राज्य में 200 से ज्यादा सीटों के साथ अगली सरकार बनाएगी। पश्चिम बंगाल के दौरे पर आए नड्डा ने प्रदेश में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और देश में अन्य दलों की वंशवाद की राजनीति की निंदा करते हुए कहा कि भाजपा के लिए पार्टी ही परिवार है।

राज्य के विभिन्न जिलों में पार्टी के नौ कार्यालयों का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने कहा, "श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने अनुशासन और सहिष्णुता के बारे में जो कहा था मैं आज उसे याद करना चाहूंगा। …वह बंगाल में मौजूदा स्थिति में बेहद प्रासंगिक है।" नड्डा ने टीएमसी सरकार पर अल्पसंख्यक तुष्टिकरण का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भगवा दल 2021 के चुनावों में 200 से ज्यादा सीटों के साथ सत्ता में आएगा और टीएमसी का सफाया हो जाएगा।

नड्डा ने कहा, "जब पूरा देश भूमि पूजन (अयोध्या में राम मंदिर का) देख रहा था तब ममता बनर्जी ने पांच अगस्त को पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन लगा दिया, जिससे स्थानीय स्तर पर लोगों को इस मौके पर शिरकत से रोका जा सके।" उन्होंने कहा, इसके बिल्कुल विपरीत 31 जुलाई को बकरीद के मौके पर लॉकडाउन हटा लिया गया था। यह दिखाता है कि प्रदेश सरकार की नीतिया राजनीति से प्रेरित हैं।

नड्डा ने आगे कहा कि बंगाल में भाजपा ने एक लंबी लड़ाई लड़ी है। नौ साल पहले बंगाल में हमारा वोट फीसद 4 था। 2014 के लोकसभा चुनाव में हमारी सीटें 2 हो गई और हमारा वोट फीसद 18 पहुंचा। 2019 में हमारी सीटें 18 हुई और हमारा वोट फीसद 40 पर पहुंच गया। उन्होंने कहा कि 2021 के चुनाव में भाजपा अब अंतिम छलांग लगाते हुए 200 से ज्यादा सीटें जीतेगी।

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नड्डा ने तृणमूल सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि ममता बनर्जी असहिष्णुता का दूसरा नाम है। उन्होंने कहा कि कविगुरु रवींद्र नाथ टैगोर जी ने जिस तरह से देश को दृष्टि दी वो सभी जानते हैं, लेकिन आज बंगाल में असहिष्णुता बढ़ती जा रही है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कार्यालय संस्कार के केंद्र हैं, भाजपा कार्यालय से चलती हैं। अन्य पार्टियां घरों से चलती हैं, यहीं उनके कार्यालय हैं।

घर-घर संपर्क अभियान की शुरुआत:
राज्य के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी के व्यापक जन संपर्क अभियान के तहत नड्डा ने मुख्यमंत्री बनर्जी के घर के नजदीक कालीघाट इलाके में भाजपा के घर-घर संपर्क अभियान की शुरुआत की। भाजपा के ‘आर नोई अन्याय’(और अन्याय नहीं) अभियान के तहत गृह संपर्क अभियान के दौरान नड्डा गिरीश मुखर्जी रोड पर स्थित लोगों से मिले। इसके बाद नड्डा प्रदेश भाजपा नेताओं के साथ एक बैठक की, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और उपाध्यक्ष मुकुल रॉय भी शामिल रहे। 10 दिसंबर को जेपी नड्डा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के संसदीय क्षेत्र डायमंड हार्बर में रैली करेंगे।

संबंधित खबरें