DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   पश्चिम बंगाल  ›  चुनाव बाद हिंसा को लेकर सड़क पर उतरेगी बीजेपी, ममता सरकार के खिलाफ पूरे राज्य में करेगी विरोध प्रदर्शन
पश्चिम बंगाल

चुनाव बाद हिंसा को लेकर सड़क पर उतरेगी बीजेपी, ममता सरकार के खिलाफ पूरे राज्य में करेगी विरोध प्रदर्शन

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Ashutosh Ray
Wed, 16 Jun 2021 10:28 PM
चुनाव बाद हिंसा को लेकर सड़क पर उतरेगी बीजेपी, ममता सरकार के खिलाफ पूरे राज्य में करेगी विरोध प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव बाद हिंसा को लेकर तृणमूल कांग्रेस की सरकार को घेरने के लिए बीजेपी पूरे राज्य में प्रदर्शन करने का फैसला किया है। हिंसा को लेकर बीजेपी ने आरोप लगाया है कि राज्य में सत्तारूढ़ टीएमसी द्वारा पार्टी कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है। 

इस विरोध प्रदर्शन के 23 जून को होने की संभावना है और तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ आवाज उठाने के लिए विधायकों और सांसदों सहित पार्टी के नेता विभिन्न जिलों में छोटे-छोटे समूहों में मौजूद रहेंगे। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा क्योंकि राज्य सरकार ने प्रतिबंधों को 1 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया है।

ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ कोलकाता के धर्मतला इलाके में बीजेपी के वरिष्ठ नेता विरोध प्रदर्शन की अगुवाई करेंगे। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि टीएमसी कैडर भाजपा का समर्थन करने वालों के खिलाफ लगातार हिंसा कर रही है। 

उन्होंने कहा, आपने बंगाल में रेप की घटनाएं सुनी होंगी जो सुप्रीम कोर्ट के सामने भी आ चुकी हैं। हिंसा थम नहीं रही है। इस तरह की हिंसा की शिकायतें हमें रोजाना आती हैं। और अपने समर्थकों से इस राजनीतिक बदले की भावना के खिलाफ आवाज उठाने के लिए हम बंगाल में सांकेतिक विरोध करेंगे।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा को लेकर राज्य के राज्यपाल जगदीप धनखड़ भी सवाल उठा चुके हैं। राज्यपाल ने कहा है कि चुनाव बाद हिंसा बंगाल के लिए ठीक नहीं है। उन्होंने चेतावनी दी कि अपनी इच्छा के अनुसार मतदान करने वालों को दंडित करना लोकतंत्र के लिए खतरे की घंटी है। वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने राज्यपाल की ओर से हिंसा को लेकर दिए गए बयान को खारिज कर चुकी है।

संबंधित खबरें