DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   पश्चिम बंगाल  ›  टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी वर्कर को पीटकर मारा, पत्नी के तोड़े दांत: जेपी नड्डा

पश्चिम बंगालटीएमसी के गुंडों ने बीजेपी वर्कर को पीटकर मारा, पत्नी के तोड़े दांत: जेपी नड्डा

लाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताPublished By: Madan Tiwari
Tue, 04 May 2021 05:48 PM
टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी वर्कर को पीटकर मारा, पत्नी के तोड़े दांत: जेपी नड्डा

पश्चिम बंगाल में चुनावी नतीजों के बाद कई जिलों में सामने आईं हिंसक घटनाओं के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा मंगलवार को बंगाल पहुंचे। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या करने का आरोप लगाया। नड्डा ने साउथ 24 परगना में कहा कि टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी वर्कर की पीटकर हत्या कर दी। साथ ही उसकी पत्नी के भी दांत तोड़ दिए। मालूम हो कि नतीजों के बाद राज्य में कई जगह कथित तौर पर बीजेपी के कई कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। इसके पीछे बीजेपी ने टीएमसी के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है।

बंगाल का सोमवार को दौरा कर रहे बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा ने कहा कि नतीजों के बाद, तृणमूल कांग्रेस के गुंडे बीजेपी कार्यकर्ता हरन अधिकारी के घर में घुस गए। तोड़फोड़ की और महिलाओं व बच्चों को धमकाया और उन पर हमला कर दिया। नड्डा ने दावा किया कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हरन अधिकारी की पत्नी के दांत भी तोड़ दिए। इसके बाद अधिकारी को घसीटते हुए घर के बाहर ले गए और मारपीट की। इसके चलते उसकी मौत हो गई। बंगाल की एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनने जा रहीं ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए नड्डा ने आगे कहा, ''ममता जी, आपकी पार्टी ने जीत के बाद क्या किया, यह लोकतंत्र में आपके विश्वास को बताता है। टीएमसी कार्यकर्ता और नेता कह रहे हैं कि सोशल मीडिया पर ये सभी घटनाएं फर्जी हैं। आपने देखा कि कैसे हरन अधकारी की पत्नी और बेटा रो रहे थे। मैं मीडिया से देश को सच्चाई बताने का अनुरोध करता हूं।''

इससे पहले, नड्डा ने चुनावी नतीजों के बाद हुईं हिंसा की घटनाओं पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि हम चिंतित हैं और सदमे में हैं। मैंने ऐसी घटनाएं भारत के विभाजन के दौरान ही सुनी थीं। आजाद भारत में चुनाव नतीजों के बाद हमने कभी इस तरह की हिंसा नहीं देखी। उन्होंने कहा, ''हम इस वैचारिक लड़ाई और TMC की गतिविधियों से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं जो असहिष्णुता से भरी है। हम लोकतांत्रिक तरीके से लड़ने के लिए तैयार हैं। मैं उन कार्यकर्ताओं के घरों का दौरा करूंगा, जिनका जीवन परिणाम आने के कुछ घंटे बाद समाप्त हो गया।''

'लोकतंत्र में हिंसा अस्वीकार्य, स्थिति पर नियंत्रण करें ममता'
वहीं, कांग्रेस ने कथित हिंसा की निंदा करते हुए कहा कि ऐसी घटनाएं लोकतंत्र में अस्वीकार्य हैं और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को स्थिति पर नियंत्रण करना चाहिए। पार्टी के पश्चिम बंगाल प्रभारी जितिन प्रसाद ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों ने हमला किया है तथा महिलाओं और बच्चों को भी नहीं छोड़ा गया। उन्होंने ट्वीट किया, ''चुनाव के बाद तृणमूल कांग्रेस की ओर से कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ की गई हिंसा अस्वीकार्य है। महिलाओं और बच्चों तक को नहीं छोड़ा गया। मुझे विश्वास है कि पश्चिम बंगाल के जोगों ने इस अराजकता के लिए वोट नहीं दिया है।'' पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि उनकी पार्टी ऐसी घटनाओं की निंदा करती है।

पीएम मोदी ने की बंगाल के राज्यपाल धनखड़ से बात
बंगाल में हिंसक घटनाओं को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राज्यपाल जगदीप धनखड़ से बात की। राज्यपाल ने कहा, ''पीएम मोदी ने मुझसे बात की और चुनाव के बाद कई जिलों से हिंसा की खबरों के मद्देनजर राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर गहरा क्षोभ प्रकट किया।'' राज्यपाल ने ट्वीट कर सवाल किया कि पश्चिम बंगाल पुलिस को लोकतंत्र को शर्मसार करने वाली राजनीतिक हिंसा, तोड़फोड़, आगजनी, हत्याओं को रोकना चाहिए। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में ही हिंसा क्यों होती है? लोकतंत्र पर हमला क्या हो रहा है? धनखड़ ने कहा कि खौफनाक हालात की खबरें मिल रही है। डर के कारण लोग जान बचाने के लिए भाग रहे हैं।

संबंधित खबरें