DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   पश्चिम बंगाल  ›  तीसरी पारी शुरू करते ही भड़कीं ममता, कहा- हमारे हिस्से की ऑक्सीजन दूसरों को दे रही केंद्र सरकार

पश्चिम बंगालतीसरी पारी शुरू करते ही भड़कीं ममता, कहा- हमारे हिस्से की ऑक्सीजन दूसरों को दे रही केंद्र सरकार

लाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताPublished By: Madan Tiwari
Fri, 07 May 2021 02:23 PM
तीसरी पारी शुरू करते ही भड़कीं ममता, कहा- हमारे हिस्से की ऑक्सीजन दूसरों को दे रही केंद्र सरकार

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को बड़ी जीत दिलवाने वालीं पार्टी प्रमुख और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेटर लिखकर निशाना साधा है। बनर्जी ने पत्र में आरोप लगाया है कि बंगाल में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद भी राज्य के हिस्से की ऑक्सीजन को केंद्र सरकार अन्य राज्यों में डायवर्ट कर रही है। उन्होंने पीएम मोदी से कहा है कि बंगाल में ऑक्सीजन की खपत पिछले एक हफ्ते में 470 मैट्रिक टन से बढ़कर 550 मैट्रिक टन तक पहुंच गई है। राज्य सरकार पहले ही यह बात केंद्र को बता चुकी है कि बंगाल में ऑक्सीजन की जरूरत अब 550 मैट्रिक टन रोजाना है। 

ऑक्सीजन पर पीएम मोदी और केंद्र सरकार को घेरते हुए ममता बनर्जी ने लेटर में आगे कहा, ''बंगाल की जरूरत को पूरा करने के बजाय, सरकार ने बंगाल की ऑक्सीजन उत्पादकता में अन्य राज्यों को ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ा दी है। बंगाल में रोजाना 308 मैट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है, जबकि आवश्यकता 550 मैट्रिक टन की है।'' ममता बनर्जी ने केंद्र को यह भी याद दिलाया है कि बंगाल एक दिन में 560 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन करता है।

ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से बंगाल के लिए ऑक्सीजन आवंटन की समीक्षा करने और मांग को पूरा करने के लिए आवश्यक कदम उठाने का अनुरोध किया है। बंगाल की सीएम ने राज्य के लिए 550 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन के आवंटन की मांग की है। इसके पीछे की वजह राज्य में लगातार बढ़ते हुए कोरोना के मामले बताए गए हैं।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में गुरुवार को कोरोना वायरस से 117 और लोगों की जान चली गई, जिसके बाद संक्रमण से होने वाली मौतों का आंकड़ा बढ़कर 11,964 हो गया। वहीं, एक दिन में रिकॉर्ड 18,431 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 1,22,774 हो गई है।

संबंधित खबरें