ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पश्चिम बंगालबंगाल में नहीं थम रहा राजनीतिक हत्याओं का दौर, 24 घंटे में पेड़ से लटके मिले 2 बीजेपी कार्यकर्ताओं के शव, टीएमसी पर आरोप

बंगाल में नहीं थम रहा राजनीतिक हत्याओं का दौर, 24 घंटे में पेड़ से लटके मिले 2 बीजेपी कार्यकर्ताओं के शव, टीएमसी पर आरोप

पश्चिम बंगाल में खूनी राजनीति का दौर थमता नहीं दिख रहा है। 24 घंटे के भीतर दो बीजेपी कार्यकर्ताओं के शव पेड़ से लटके मिले हैं। पूर्वी मिदनापुर जिले के कछुरी गांव में बीजेपी कार्यकर्ता पूर्णचरण दास का...

बंगाल में नहीं थम रहा राजनीतिक हत्याओं का दौर, 24 घंटे में पेड़ से लटके मिले 2 बीजेपी कार्यकर्ताओं के शव, टीएमसी पर आरोप
एएनआई,पूर्वी मिदनापुर Thu, 30 Jul 2020 06:19 PM
ऐप पर पढ़ें

पश्चिम बंगाल में खूनी राजनीति का दौर थमता नहीं दिख रहा है। 24 घंटे के भीतर दो बीजेपी कार्यकर्ताओं के शव पेड़ से लटके मिले हैं। पूर्वी मिदनापुर जिले के कछुरी गांव में बीजेपी कार्यकर्ता पूर्णचरण दास का शव पेड़ से लटका मिल तो मथुरापुर में बूथ सचिव गौतम पात्र का शव भी पेड़ से लटका मिला है। परिवार और बीजेपी ने टीएमसी पर हत्या का आरोप लगाया है। हाल ही में संदिग्ध हालात में मृत मिले बीजेपी विधायक को लेकर भी काफी आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला था। पुलिस इन मामलों की जांच कर रही है।

बंगाल बीजेपी ने ट्वीट करके कहा, ''24 घंटे के भीतर बंगाल में एक और बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या। मथुरापुर में बूथ सचिव गौतम पात्र वीभत्स तरीके से लटके मिले। इस तरह की राजनीतिक हत्याएं गृहमंत्री ममता बनर्जी के कार्यकाल में बहुत सामान्य हो चुकी हैं। वह जिम्मेदारी से बच नहीं सकती हैं।''

 न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए दास के परिवार के लोगों ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता दास पर पार्टी में शामिल होने का दबाव बना रहे थे और इनकार करने पर उन्होंने हत्या कर दी है। दास की बहन ने कहा, ''मेरा भाई भारतीय जनता पार्टी के लिए काम कर रहा था, इसलिए मेरे भाई की हत्या कर दी गई।''

पूर्णचंद्र की बहन ने कहा, ''आज यहां ग्राम सभा की बैठक होने वाली थी, जिसमें वह बोलने वाला था। इससे पहले ही उन्होंने (टीएमसी कार्यकर्ताओं) उसे मार डाला। एक स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ता ने नाम जाहिर नहीं करते हुए कहा, ''तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता पूर्णचंद्र के अच्छे कामों की वजह से भयभीत थे।''

हाल ही में बीजेपी के विधायक देबेंद्र नाथ रे उत्तरी दिनाजपुर में संदिग्ध हालात में मृत मिले थे। इसको लेकर काफी हंगामा हुआ था। राजनीतिक जानकार बताते हैं कि पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हत्याओं का दौर लंबे समय से चला आ रहा है। वामपंथी दलों और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच लंबे समय तक हिंसा होती रही। अब बीजेपी अपने कार्यकर्ताओं को निशाना बनाए जाने का आरोप लगाती है। 

वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि यह पूरी तरह से बेबुनियाद और राजनीतिक रूप से प्रेरित आरोप हैं। पुलिस जांच में सच सामने आ जाएगा। पुलिस ने बताया कि दक्षिण बंगाल के रामनगर इलाके में भाजपा के बूथ प्रमुख पूर्णचंद्र दास (44) का शव स्थानीय लोगों ने पेड़ से लटका पाया। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वे मामले की जांच कर रहे हैं।