By Rakhi
PUBLISHED Jan 24, 2023

LIVE HINDUSTAN
Faith

साधु क्यों पहनते हैं भगवा रंग के कपड़े?

Pic Credit: Shutterstock

हिंदू धर्म में प्राचीन काल से ही साधु-संतों को सम्मान और आदर की दृष्टि से देखा जाता रहा है। आपने अधिकतर साधु-संतों को भगवा रंग के वस्त्रों में देखा होगा।

साधु

Pic Credit: Shutterstock

आज हम आपको बताएंगे कि साधु-सन्यासी भगवा रंग के कपड़े क्यों पहनते हैं?

भगवा रंग के कपड़े 

Pic Credit: Shutterstock

प्रकृति में हमें सूरज की रोशनी में केसरिया या भगवा रंग देखने को मिलता है। भगवा रंग के कपड़े पहनना जीवन में प्रकाश और सवेरे का सूचक माना जाता है।

प्रकृति में भगवा रंग

Video Credit: Pexels

जब कोई फल पक जाता है, तो वह आमतौर पर नारंगी रंग का हो जाता है। इसलिए नारंगी या भगवा रंग पकने यानी परिपक्वता या समझदारी का प्रतीक माना जाता है।

पके फल का रंग नारंगी

 नारंगी या भगवा रंग को चक्रों से जोड़ कर भी देखा जाता है। 

शरीर में मौजूद चक्र

Pic Credit: Shutterstock

व्यक्ति के शरीर में चक्र मौजूद होते हैं। हर चक्र का अलग रंग होता है।

चक्र

Pic Credit: Shutterstock

आज्ञा चक्र को ज्ञान प्राप्ति का सूचक माना जाता है। आज्ञा चक्र का रंग भगवा या गेरूआ होता है।

आज्ञा चक्र

Pic Credit: Shutterstock

साधु-संत यानी जो लोग आध्यात्मिक पथ पर होते हैं,ज्ञान-प्राप्ति की दिशा में बढ़ रहे होते हैं और उच्चतम चक्र तक पहुंचना चाहते हैं, वे भगवा रंग के कपड़े पहनते हैं।

ज्ञान प्राप्ति

Pic Credit: Shutterstock

यह जानकारी सिर्फ मान्यताओं, धर्मग्रंथों और विभिन्न माध्यमों पर आधारित है। किसी भी जानकारी को मानने से पहले विशेषज्ञ से सलाह लें।

नोट

Vastu Tips: घर की सुख-शांति बढ़ाते हैं ये फूल

Click Here