By VIMLESH KUMAR 
PUBLISHED June 17, 2024

LIVE HINDUSTAN
Lifestyle

किताबें पढ़ने से दूर होता है तनाव, जानिए रीडिंग के 7 फायदे

अगर कोई आपसे पूछे कि आपका सच्चा दोस्त कौन है तो आपके दिमाग में कई नाम आएंगे लेकिन एक वक्त के बाद गायब भी होने लगेंगे। लेकिन अगर आप पढ़ने- लिखने वाले रचनात्मक लोगों में से हैं तो आप एक पल में कह देंगे कि किताबें आपकी सच्ची दोस्त हैं।

किताबें 

इस बात में बहुत सच्चाई है। जो व्यक्ति किताबों से दोस्ती कर लेता है वह मानसिक रूप से बहुत मजबूत हो सकता है। किताबें पढ़ने से स्ट्रेस रिलीज होता है। आपके दिमाग में बेवजह के ख्याल नहीं आते हैं और आप सकारात्मक महसूस करते हैं।

स्ट्रेस रिलीज करे 

किताब पढ़ने से आप मानसिक रूप से बहुत मजबूत हो जाते हैं। आइए आपको रोजाना किताब पढ़ने से क्या फायदे होते हैं इसके बारे में बताते हैं।

किताब पढ़ने के फायदे

किताबें आपको सकारात्मक रहने और सोचने में मदद करती हैं। सकारात्मक सोच के साथ जो व्यक्ति अपने कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ता है उसे भविष्य या किसी भी चीज को लेकर बहुत चिंता नहीं सताती है और वह जीवन में सफल होता है।

चिंता से मुक्ति

किताब पढ़ना एक तरह की माइंड एक्सरसाइज है। इससे आपका मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होता है और याददाश्त मजबूत होती है।

याददाश्त मजबूत करे 

लगातार अच्छी किताबें पढ़ने से व्यक्ति के दिमाग में अलग- अलग तरह की इमेज बनती है। जो लोग किताबें पढ़ते हैं उनकी क्रिएटिविटी मजबूत होती है और सोचने समझने का नजरिया भी अलग रहता है।

रचनात्मकता को बढ़ाए 

कई लोगों को अनिद्रा की समस्या रहती है। इस समस्या से छुटकारा पाने का सबसे बेहतरीन तरीका है रीडिंग। किताबें पढ़ने से आपको नींद का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। सोने से पहले किताब पढ़ने की आदत डालें। घंटे दो घंटे बाद आपको अपने आप नींद आ जाएगी।

बेहतर नींद

किताबें आपके मन को एकाग्र करने में मदद करती हैं। जिस तरह से मेडिटेशन ध्यान को केंद्रित करने में सहायक होता है, उसी तरह किताब पढ़ने से भी आपका ज्ञान बढ़ता है और मन एकाग्र रहता है।

मन को एकाग्र करे 

किताब पढ़ने से आपकी कम्युनिकेशन स्किल बेहतर होती है। आपके दिमाग के शब्दभंडार में नए- नए शब्द स्टोर होते हैं। आपको नए- नए वाक्यांश, कहावतें, उद्धरण, उदाहरण आदि किताबों से सीखने को मिलते हैं, जिनका इस्तेमाल करके आप अपने संचार कौशल को प्रभावशाली बना सकते हैं।

बातचीत के ढंग को बेहतर करे 

किताबें आपको भावनात्मक और संवेदनशील बनाती हैं। लगातार किताबों का सानिध्य जो व्यक्ति बनाए रखता है वह पत्थर दिल कभी नहीं हो सकता है। उसके अंदर संवेदनाएं और भावनाएं जरूर जिंदा रहती हैं।

संवेदनशील और भावनात्मक बनाए

खाना खाने के बाद चाय पीने के खतरनाक नुकसान

Click Here
457678261031170