फोटो गैलरी

Hindi News मौसमअब UP और बिहार की ओर बढ़ी बारिश, मौसम विभाग ने बताया अनुमान; श्रीनगर से पटना तक कैसा रहेगा

अब UP और बिहार की ओर बढ़ी बारिश, मौसम विभाग ने बताया अनुमान; श्रीनगर से पटना तक कैसा रहेगा

मौसम विभाग का कहना है कि ऐसा ही मौसम सोमवार को रह सकता है और मंगलवार को भी यही स्थिति बनी रहेगी। अब तक दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, कश्मीर और पश्चिम यूपी जैसे इलाकों में ही बारिश हो रही थी।

अब UP और बिहार की ओर बढ़ी बारिश, मौसम विभाग ने बताया अनुमान; श्रीनगर से पटना तक कैसा रहेगा
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 05 Feb 2024 12:38 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर और आसपास के इलाकों में सोमवार को सुबह फिर से हल्की बारिश हुई है। यही नहीं रात में पूर्वी यूपी, अवध और बुंदेलखंड के भी ज्यादातर इलाकों में खूब बारिश हुई। यही नहीं बिहार के भी ज्यादातर इलाकों में रविवार शाम को हल्की बारिश हुई है। अब मौसम विभाग का कहना है कि ऐसा ही मौसम सोमवार को रह सकता है और मंगलवार को भी यही स्थिति बनी रहेगी। अब तक दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और पश्चिम यूपी जैसे इलाकों में ही बारिश हो रही थी। अब पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से होने वाली बारिश पूर्वी यूपी, बिहार की ओर भी बढ़ गई है। 

मौसम विभाग का अनुमान है कि इससे उत्तर भारत में सर्दी फिर से थोड़ी बढ़ सकती है। हालांकि कोहरा ज्यादा नहीं होगा। सोमवार सुबह के मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में आज बारिश होगी। इसके अलावा पूर्वी यूपी और बिहार में भी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग का अनुमान है कि मंगलवार को दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब समेत उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में सुबह के वक्त घना कोहरा होगा। हालांकि दिन में मौसम साफ होने की उम्मीद है। 

बुलेटिन में बताया गया है कि अगले तीन दिनों में उत्तर भारत के कई राज्यों में न्यूनतम तापमान 2 से 3 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है। इन तीनों के बाद मौसम में ज्यादा बदलाव नहीं होगा। माना जा रहा है कि 10 फरवरी के बाद से सर्दी थोड़ी कम होने लगेगी। रविवार शाम को दिल्ली में 11.9 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया, जो सामान्य से थोड़ा अधिक था। बता दें कि इस साल दिसंबर और जनवरी के महीने में हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में भी बारिश और बर्फबारी नहीं हुई थी। इसके चलते एक्स्पर्ट्स ने चिंता जताई थी। हालांकि फरवरी के पहले ही दिन से बर्फबारी और बारिश शुरू हुई तो थोड़ी राहत मिली। 

कश्मीर में 40 दिनों का रहा सूखा, जब पड़ती थी भारी बर्फबारी

जम्मू-कश्मीर में तो दिसंबर के आखिर से जनवरी के अंत तक 40 दिनों की भीषण सर्दी का दौर होता है। इसे वहां चिल्लई कलां कहा जाता है, लेकिन इस अवधि में इस बार बर्फबारी नहीं हुई। उसके बाद अब 20 दिनों की चिल्लई खुर्द का दौर चल रहा है। अब कश्मीर में शीत लहर का दौर जारी है और ऊंची पहाड़ियों पर बर्फबारी भी चल रही है। घाटी में 20 दिनों का चिल्लई खुर्द का सीजन होता है, जिसका अर्थ छोटी ठंड गोता है। इसके बाद 10 दिनों का ‘चिल्लई-बच्चा’ (हल्की ठंड) का दौर आएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें