फोटो गैलरी

Hindi News मौसमPunjab Weather Updates: भीगता पंजाब, बारिश ने बढ़ाई ठंड की रफ्तार; अब घने कोहरे की मार के आसार

Punjab Weather Updates: भीगता पंजाब, बारिश ने बढ़ाई ठंड की रफ्तार; अब घने कोहरे की मार के आसार

Rainfall: मोहाली, अमृतसर, जालंधर, पटियाला सहित कई जिलों में रुक रुक कर बारिश हो रही है। बारिश से तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है जिस से सर्दी ने जोर पकड़ लिया है।

Punjab Weather Updates: भीगता पंजाब, बारिश ने बढ़ाई ठंड की रफ्तार; अब घने कोहरे की मार के आसार
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Thu, 30 Nov 2023 09:22 AM
ऐप पर पढ़ें

Weather Updates: नवंबर की विदाई के साथ ठंड के इंतजार में बैठे देश के बारिश का तोहफा मिला है। देश के कई राज्यों में ठंड की दस्तक के बीच बारिश की अचानक एंट्री ने मौसम में ठंडक बढ़ा दी है। यही आलम पंजाब में भी नजर आ रहा है। गुरुवार सुबह से राजधानी चंडीगढ़ सहित पंजाब के कई जिलों में बारिश हो रही है।

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से मौसम बदल गया है जिससे पंजाब में बारिश हुई है। चंडीगढ़ में सुबह तीन बजे बारिश शुरू हुई जो अब भी जारी है। मोहाली, अमृतसर, जालंधर, पटियाला सहित कई जिलों में रुक रुक कर बारिश हो रही है। बारिश से तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है जिस से सर्दी ने जोर पकड़ लिया है। 

अब पड़ेगा कोहरा 
मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया था कि पंजाब में पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में बदलाव आएगा। बीते दिन भी पंजाब के कई हिस्सों में बारिश हुई थी। इससे रात के तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस और दिन के तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। अगले चार दिन यानी एक दिसंबर से चार दिसंबर मौसम शुष्क रहेगा। बारिश के बाद कई जिलों में धुंध पड़ने के आसार हैं। 

मौसम केंद्र चंडीगढ़ के पूर्वानुमान के अनुसार पश्चिमी मालवा को छोड़कर पंजाब के ज्यादातर जिलों में पश्चिमी विक्षोभ का असर रहेगा। मौसम के बदलाव के चलते कोहरे से लोगों की मुश्किल बढ़ जाएगी। इससे रेल, सड़क और हवाई यातायात प्रभावित होगा। 

वायु गुणवत्ता सूचकांक स्तर में होगा सुधार
बारिश होने से जहां सर्दी बढ़ गई है वहीं, पंजाब वासियों को जहरीली हवा से राहत मिलेगी। पंजाब में किसानों के लगातार पराली जलाने के कारण धुएं ने आसमान को पहले ही आगोश में लिया हुआ था। अब बारिश से वायु गुणवत्ता सूचकांक स्तर में सुधार हो सकता है, क्योंकि इससे हवा में मौजूद बारीक धूल कण साफ हो जाएंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें