फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसममैदानी शहरों के साथ उत्तराखंड के पहाड़ भी तपे, देहरादून में जून की तपती गर्मी ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड 

मैदानी शहरों के साथ उत्तराखंड के पहाड़ भी तपे, देहरादून में जून की तपती गर्मी ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड 

देहरादून का तापमान बुधवार को 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अलर्ट जारी किया गया है।मौसम विभाग के मुताबिक, वर्ष 2013 से 2023 के बीच 2022 में पांच जून को तापमान 41.6 डिग्री दर्ज किया गया था।

मैदानी शहरों के साथ उत्तराखंड के पहाड़ भी तपे, देहरादून में जून की तपती गर्मी ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड 
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तान टीमWed, 12 Jun 2024 09:58 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में एक बार फिर प्रचंड गर्मी पड़ रही है। मैदानी इलाकों के साथ पहाड़ भी तप रहे हैं। चिलचिलाती गर्मी में लोगों का जमकर पसीना निकल रहा है। देहरादून में जून का गर्मी का 11 साल का रिकॉर्ड टूट गया है।

मंगलवार को देहरादून में बीते 11 वर्षों में सर्वाधिक पारा 41.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से सात डिग्री ज्यादा है। दिनभर लू के थपेड़ों एवं सूरज की तपिश ने लोगों को बेहाल किया। रात को भी सुकून नहीं मिल रहा है, न्यूनतम तापमान भी 23.8 डिग्री सेल्सियस तक जा रहा है।

दूसरी ओर, दून का तापमान बुधवार को 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अलर्ट जारी किया गया है।मौसम विभाग के मुताबिक, वर्ष 2013 से 2023 के बीच 2022 में पांच जून को तापमान 41.6 डिग्री दर्ज किया गया था।

यह रिकॉर्ड मंगलवार को टूट गया। दून के सर्वाधिक पारे का ऑल टाइम रिकॉर्ड चार जून 1902 में 43.9 डिग्री सेल्सियस रहा था। उधर, मंगलवार को सुबह से ही तेज धूप परेशान करने लगी थी। दोपहर को तो सूरज की तपिश से लोग झुलस गए।

सबसे ज्यादा दिक्कत दोपहिया वाहन सवारों एवं पैदल चलने वालों को हुई। दोपहर के समय सड़कों पर वाहन कम नजर आए। काफी लोग पानी वाली जगह एवं स्वीमिंग पूल में राहत पाने के लिए पहुंचे। बता दें कि दो जून 2012 को तापमान 42.1 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था।

दोपहर एक से चार बजे तक बाहर नहीं निकलें
मौसम निदेशक डॉ. बिक्रम सिंह ने बताया है कि लू चलने से हीटस्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है। लोगों से अपील की गई है कि वह दोपहर को एक बजे से लेकर चार बजे तक घरों एवं प्रतिष्ठानों से बाहर नहीं निकलें। यदि बहुत जरूरी हो तो छाता लेकर एवं शरीर पूरा कवर करके निकलें। पीने का पानी जरूर साथ रखें।

उत्तराखंड में मैदानों के साथ-साथ पहाड़ भी तपे
उत्तराखंड में एक बार फिर प्रचंड गर्मी पड़ रही है। मैदानी इलाकों के साथ पहाड़ भी तप रहे हैं। मंगलवार को दून में 41.8, पंतनगर में 41.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। वहीं, नई टिहरी में 31.5 और मुक्तेश्वर में 29.5 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा।

मूसरी, नैनीताल में भी तापमान 30 डिग्री से ज्यादा पहुंच रहा है। मौसम विभाग ने बुधवार को मैदानी इलाकों में 43 डिग्री सेल्सियस तक तापमान रहने का येलो अलर्ट जारी कर दिया है।

डॉक्टर के अनुसार गर्मी में ऐसे रखें खुद का ख्याल
डिहाइड्रेशन से बचने के लिए धूप में कम से कम बाहर निकलें।
छाता या गमछे का प्रयोग करें।
तरल पदार्थ और ताजे फल एवं सब्जी का सेवन करें।
ओआरएस का घोल और पानी भी पर्याप्त मात्रा में पीते रहें।
कटे और खराब फल के साथ ही बासी खाने का सेवन नहीं करें।
बर्फ से बने पेय पदार्थों एवं चिकनाई युक्त भोजन से भी बचना चाहिए।
बच्चे-बुजुर्गों को बाहर न निकलने दें।
स्किन को बचाने के लिए अच्छा बॉडी लोशन या सनस्क्रीन लगाकर निकलें।
(दून अस्पताल के फिजिशियन डॉ. कुमारजी कौल के मुताबिक)