फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमराजस्थान में आग बसरा रहा सूरज, 50 डिग्री पहुंचा तापमान; गर्मी से त्राहि-त्राहि कर रहे लोग

राजस्थान में आग बसरा रहा सूरज, 50 डिग्री पहुंचा तापमान; गर्मी से त्राहि-त्राहि कर रहे लोग

शनिवार को राज्य में फलौदी 50 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म स्थान दर्ज किया गया। बाड़मेर में अधिकतम तापमान 48.8 डिग्री, जैसलमेर में 48 डिग्री, बीकानेर में 47.2 डिग्री तापमान रहा।

राजस्थान में आग बसरा रहा सूरज, 50 डिग्री पहुंचा तापमान; गर्मी से त्राहि-त्राहि कर रहे लोग
Himanshu Tiwariभाषा,जयपुरSat, 25 May 2024 08:26 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में भीषण गर्मी का सितम शनिवार को जारी रहा जहां फलौदी में अधिकतम तापमान 50 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। तेज गर्मी के कारण राज्य में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों में अवकाश के लिए जिलों के कलेक्टर को अधिकृत किया गया है। आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी जिला कलेक्टर को राज्य में लू से आमजन एवं पशु-पक्षियों को राहत प्रदान करने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया है। आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आनंद कुमार ने सभी जिला कलेक्टर को सुचारू व्यवस्था के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं।

जयपुर मौसम केंद्र के अनुसार, शनिवार को राज्य में फलौदी 50 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म स्थान दर्ज किया गया। बाड़मेर में अधिकतम तापमान 48.8 डिग्री, जैसलमेर में 48 डिग्री, बीकानेर में 47.2 डिग्री, चूरू में 47 डिग्री, जोधपुर में 46.9 डिग्री, गंगानगर में 46.5 डिग्री, कोटा में 46.3 डिग्री और राजधानी जयपुर में 43.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस बीच, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा पर निशाना साधते हुए कहा कि एक ओर प्रदेश की जनता बिजली कटौती एवं पेयजल की आपूर्ति न होने से त्रस्त है, तो दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री इस संकट को दूर करने के लिए समस्या का समाधान खोजने की बजाय दूसरे प्रदेशों में जाकर चुनाव प्रचार करने में व्यस्त हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भीषण गर्मी के बावजूद लोगों को बिजली और पीने का पानी मुहैया नहीं करा पा रही है, जिसके कारण राज्य के ग्रामीण इलाकों में लोगों को पीने के पानी के लिए मीलों पैदल चलना पड़ रहा है। कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘‘शहरवासी भारी राशि खर्च करके पानी के टैंकर खरीद कर अपनी प्यास बुझा रहे हैं। सरकार की अनदेखी के कारण प्रदेश में भीषण बिजली संकट उत्पन्न हो गया है तथा सरकार द्वारा अघोषित रूप से दो से चार घंटे की बिजली कटौती प्रदेश की राजधानी में की जा रही है, वहीं प्रदेश के अन्य शहरों व ग्रामीण इलाकों में कई घंटे तक बिजली के अभाव में जनता गर्मी से परेशान हो रही है।’’

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रवक्ता राधेश्याम शर्मा ने बताया कि आगामी तीन दिनों के दौरान राज्य के अधिकांश भागों में अधिकतम तापमान में 1-2 डिग्री सेल्सियस बढ़ोतरी होने की संभावना है। राज्य में जारी लू तथा उष्ण रात्रि का दौर आगामी तीन-चार दिन जारी रहने की प्रबल संभावना है। उन्होंने बताया कि 29 मई से पूर्वी राजस्थान के कुछ भागों में तथा 30 मई से पश्चिमी राजस्थान के कुछ भागों में अधिकतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस गिरावट होने की संभावना है। शर्मा ने बताया कि जून के प्रथम सप्ताह में राज्य के ज्यादातर भागों में अधिकतम तापमान सामान्य के आसपास दर्ज होने की संभावना है।