फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमआपके शहर कब पहुंचेगा मॉनसून; आ गई तारीख, बारिश को लेकर IMD ने दी खुशखबरी

आपके शहर कब पहुंचेगा मॉनसून; आ गई तारीख, बारिश को लेकर IMD ने दी खुशखबरी

भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, मॉनसून के लिहाज से यह सप्ताह काफी अहम है। इस दौरान दक्षिण-पश्चिम मॉनसून मध्य भारत के शेष हिस्सों और उत्तर-पश्चिम भारत के ज्यादातर इलाकों की ओर बढ़ सकता है।

आपके शहर कब पहुंचेगा मॉनसून; आ गई तारीख, बारिश को लेकर IMD ने दी खुशखबरी
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 22 Jun 2024 07:13 PM
ऐप पर पढ़ें

भीषण गर्मी की मार झेल रहे उत्तर भारत के लोगों के लिए खुशखबरी है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, अब मॉनसून के उत्तर-पश्चिम भारत की ओर तेजी से बढ़ने के संकेत हैं। 27 जून से 3 जुलाई के बीच ज्यादातर इलाकों में मॉनसून दस्तक दे सकता है। आईएमडी ने अल नीनो के ताजा प्रभाव का अध्ययन करके यह जानकारी दी है। IMD ने 27 जून से 3 जुलाई के बीच के अपने पूर्वानुमान में कहा, 'मॉनसून स्थितियां अनुकूल नजर आ रही हैं। देश के ज्यादातर हिस्सों में बारिश सामान्य या सामान्य से अधिक होने की संभावना है। इसमें पश्चिमी हिमालय क्षेत्र और पश्चिमी राजस्थान अपवाद हैं, जहां सामान्य से नीचे वर्षा होने की संभावना है।' 

मौसम विभाग के मुताबिक, मॉनसून के लिहाज से यह सप्ताह काफी अहम है। इस दौरान दक्षिण-पश्चिम मॉनसून मध्य भारत के शेष हिस्सों और उत्तर-पश्चिम भारत के ज्यादातर इलाकों की ओर बढ़ सकता है। 11 जून से लगभग 9 दिनों के अंतराल के बाद मॉनसून गुरुवार को विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा, बंगाल की खाड़ी, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और बिहार के कुछ हिस्सों में मामूली रूप से आगे बढ़ा। शनिवार को मॉनसून की उत्तरी सीमा नवसारी, जलगांव, मंडला, पेंड्रा रोड, झारसुगुड़ा, बालासोर, हल्दिया, पाकुड़, साहिबगंज और रक्सौल से होकर गुजरा।

दक्षिण बंगाल में मॉनसून का हुआ आगमन
दक्षिण-पश्चिम मॉनसून ने शुक्रवार को आधिकारिक तौर पर दक्षिणी पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में दस्तक दी। हालांकि, क्षेत्र के अधिकांश इलाकों में बारिश नहीं हुई है। मौसम विभाग ने कहा कि मॉनसून पूरे उत्तर बंगाल में पहुंच गया है, जहां पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है। मॉनसून कोलकाता, उत्तर-दक्षिण 24 परगना, नादिया, मुर्शिदाबाद, दक्षिण बंगाल के हुगली, हावड़ा, पूर्व बर्धमान और बीरभूम जिलों के कुछ हिस्सों पर छा गया है। दक्षिण 24 परगना और पूर्व मेदिनीपुर जिले के तटीय क्षेत्रों को छोड़कर, दक्षिण बंगाल के अधिकांश क्षेत्रों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आधिकारिक रूप से आगमन के बावजूद बारिश नहीं हुई। मौसम विभाग ने कहा कि अगले 3-4 दिनों में दक्षिण बंगाल के और अधिक भागों में मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

यूपी, बिहार और बाकी राज्यों पर कब तक मॉनसून
IMD के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। यह उत्तरी अरब सागर के कुछ हिस्सों, गुजरात, महाराष्ट्र के शेष हिस्सों, मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों, छत्तीसगढ़, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों की ओर बढ़ेगा। अगले 3-4 दिनों के दौरान इस तरह की प्रगति देखने को मिलेगी। मालूम होकि उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, बिहार और पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में जून की शुरुआत से ही भीषण गर्मी पड़ रही है। लोगों को बारिश का बेसब्री से इंतजार है। सामान्य तौर पर 20 जून तक मॉनसून को बिहार, मध्य भारत, पश्चिम बंगाल के ज्यादातर इलाकों को कवर कर लेना चाहिए था। राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में मॉनसून पहुंचने की सामान्य तारीख 27 जून है।

Advertisement