फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमMonsoon Rain Alert: मॉनसून की तेज हुई रफ्तार, बस 4-5 दिनों का मेहमान है लू; बारिश लेकर आएगी राहत

Monsoon Rain Alert: मॉनसून की तेज हुई रफ्तार, बस 4-5 दिनों का मेहमान है लू; बारिश लेकर आएगी राहत

Monsoon Rain: 20 जून तक मॉनसून को सामान्य रूप से मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों जैसे कि बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, गुजरात के कुछ हिस्सों और अन्य स्थानों को कवर कर लेना चाहिए था। लेकिन ऐसा नहीं हुआ है।

Monsoon Rain Alert: मॉनसून की तेज हुई रफ्तार, बस 4-5 दिनों का मेहमान है लू; बारिश लेकर आएगी राहत
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Fri, 21 Jun 2024 07:06 AM
ऐप पर पढ़ें

IMD Monsoon Rain Alert 21 June: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया है कि 11 जून से करीब नौ दिनों के अंतराल के बाद गुरुवार को मॉनसून विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा, उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और बिहार के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ा है। 9 दिनों की शांति के बाद मॉनसून के आगे बढ़ने से देश के कई राज्यों में बारिश हो रही है। आईएमडी ने बताया कि भीषण गर्मी से जूझ रहे उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत को भी राहत मिल सकती है, क्योंकि अगले 4-5 दिनों में देश के अधिकांश हिस्सों में लू की स्थिति कम होने की संभावना है।

20 जून तक मॉनसून को सामान्य रूप से मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों जैसे कि बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, गुजरात के कुछ हिस्सों और अन्य स्थानों को कवर कर लेना चाहिए था। लेकिन गुरुवार तक मॉनसून की उत्तरी सीमा अमरावती, गोंदिया, दुर्ग, रामपुर (कालाहांडी), मालदा, भागलपुर और रक्सौल से होकर गुजर रही है।

आईएमडी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अगले 3-4 दिनों में उत्तरी अरब सागर, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, ओडिशा, उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी, गंगा के मैदानी पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों, झारखंड के कुछ हिस्सों, बिहार के कुछ और हिस्सों और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

आईएमडी के अनुसार, अगले पांच दिनों में केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र में भारी बारिश की संभावना है। अगले दो दिनों में उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। उसके बाद अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

आईएमडी ने कहा, "अगले 4-5 दिनों में देश के अधिकांश हिस्सों में लू की स्थिति की संभावना नहीं है।" अब तक लगभग पूरे जून में उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में लू की स्थिति बनी रही। गर्मी ने रातों को भी लोगों को सताया।

हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ के कुछ हिस्सों और उत्तराखंड तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में लू से लेकर भीषण लू की स्थिति बनी रही। दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पंजाब के कुछ हिस्सों और जम्मू, ओडिशा, झारखंड और बिहार के कुछ इलाकों में लू की स्थिति रही। 

आईएमडी ने दिल्ली-एनसीआर में मॉनसून के आगमन की तिथि निर्धारित कर दी है। आपको बता दें कि पंजाब और दिल्ली के कई इलाकों, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तरी राजस्थान के कुछ इलाकों और उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में अधिकतम तापमान 43-45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत के कई इलाकों और उत्तरी मध्य प्रदेश में अधिकतम और न्यूनतम तापमान औसतन सामान्य से 4-7 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।