फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमMonsoon Update: तय समय से पहले केरल कैसे पहुंच गया मॉनसून, झमाझम बारिश के पीछे क्या है वजह?

Monsoon Update: तय समय से पहले केरल कैसे पहुंच गया मॉनसून, झमाझम बारिश के पीछे क्या है वजह?

Monsoon Update: तय समय से पहले मॉनसून के केरल पहुंचने के पीछे रेमल चक्रवात वजह बताई जा रही है। हाल ही में रेमल चक्रवात ने पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों पर काफी तबाही मचाई थी।

Monsoon Update: तय समय से पहले केरल कैसे पहुंच गया मॉनसून, झमाझम बारिश के पीछे क्या है वजह?
monsoon arrived kerala today why monsoon 2024 came early know reason here heavy rain alert
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 30 May 2024 07:54 PM
ऐप पर पढ़ें

Monsoon Update: भीषण गर्मी में लोग जिस समय का इंतजार कर रहे थे, आखिरकार वह वक्त गुरुवार को आ गया। केरल में साउथवेस्ट मॉनसून ने दस्तक दे दी है। गुरुवार को मॉनसून केरल तट और पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों में आया। मौसम विभाग (IMD) ने इससे पहले 31 मई को मॉनसून के केरल पहुंचने की संभावना जताई थी, लेकिन समय से पहले ही यह केरल पहुंच गया। वहीं, आमतौर पर साउथवेस्ट मॉनसून के केरल पहुंचने की तारीख एक जून है। इसकी वजह से लोग काफी खुश नजर आ रहे हैं। धीरे-धीरे मॉनसून अन्य राज्यों की तरफ बढ़ना शुरू करेगा। 

तय समय से पहले मॉनसून के केरल पहुंचने के पीछे रेमल चक्रवात वजह बताई जा रही है। हाल ही में रेमल चक्रवात ने पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों पर काफी तबाही मचाई थी। मौसम विभाग के पूर्वानुमान से एक दिन पहले ही दक्षिण-पश्चिम मॉनसून ने दस्तक दे दी है। मौसम वैज्ञानिकों ने कहा कि चक्रवात रेमल ने मॉनसून के प्रवाह को बंगाल की खाड़ी की ओर खींच लिया, जो पूर्वोत्तर में समय से पहले मॉनसून के दस्तक देने का एक कारण हो सकता है। चक्रवाती तूफान 'रेमल' रविवार को पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तट से टकराया था। 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा, ''दक्षिण-पश्चिम मॉनसून केरल में दस्तक दे चुका है और आज यानी 30 मई 2024 को पूर्वोत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों की ओर बढ़ गया है।'' इससे पहले 15 मई को मौसम विभाग ने मानसून के 31 मई को केरल में दस्तक देने की घोषणा की थी। केरल में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है, जिसके परिणामस्वरूप मई में अतिरिक्त बारिश दर्ज की गई है। केरल में मानसून के आगमन की सामान्य तिथि एक जून और अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, नगालैंड, मेघालय, मिजोरम, मणिपुर व असम में मानसून के दस्तक देने की तिथि पांच जून है।

मेघालय में पांच दिनों तक भारी बारिश, आंधी-तूफान का पूर्वानुमान
भारत मौसम विज्ञान विभाग ने गुरुवार को मेघालय में अगले पांच दिनों में भारी बारिश, आंधी और आकाशीय बिजली गिरने को लेकर 'रेड अलर्ट' जारी किया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। चक्रवात रेमल के कारण दक्षिण-पश्चिम मानसून ने बृहस्पतिवार को केरल के तटीय इलाकों और पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों में दस्तक दी, जो मौसम विभाग के पूर्वानुमान से एक दिन पहले था। आईएमडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने 'पीटीआई- भाषा' को बताया, ''दक्षिण-पश्चिम मानसून आज मेघालय सहित पूर्वोत्तर के अधिकांश हिस्सों में पहुंच गया।'' पिछले कुछ दिनों में चक्रवात ने हिमालयी राज्य में तबाही मचाई, जिसके परिणामस्वरूप एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए। अधिकारियों ने बताया कि 271 गांवों में करीब 5,619 लोग प्रभावित हुए हैं। राजस्व और आपदा मंत्री किरमेन शायला ने कहा कि चक्रवात के बाद पिछले दो दिनों में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण 910 घर क्षतिग्रस्त हो गए।