फोटो गैलरी

Hindi News मौसमMichaung Cyclone update- चेन्नै में तबाही मचा रहे 'मिचौंग' चक्रवात का नाम किसने दिया? जानिए इसका मतलब

Michaung Cyclone update- चेन्नै में तबाही मचा रहे 'मिचौंग' चक्रवात का नाम किसने दिया? जानिए इसका मतलब

Michaung Cyclone update- चेन्नै में तबाही मचाने वाला मिचौंग चक्रवाती तूफान आंध्रप्रदेश की तरफ बढ़ रहा है। मिचौंग इस साल कहर बरपाने वाला चौथा चक्रवाती तूफान है। यह नाम किसने दिया? इसका मतलब क्या है

Michaung Cyclone update- चेन्नै में तबाही मचा रहे 'मिचौंग' चक्रवात का नाम किसने दिया? जानिए इसका मतलब
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 05 Dec 2023 01:29 PM
ऐप पर पढ़ें

Michaung Cyclone update- तमिलनाडु, ओडिशा, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के कई हिस्सों में चक्रवात मिचौंग का कहर जारी है। चक्रवाती तूफान आज दोपहर में किसी भी वक्त आंध्र के दक्षिणी तट से टकरा सकता है। मिचौंग चक्रवाती तूफान की वजह से ओडिशा, चेन्नै समेत कई जगहों पर स्कूलों-कॉलेज में छुट्टी दे दी गई है। लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। अगले दो से तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट है। तबाही के दौरान तूफान की स्पीड 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है। भीषण चक्रवाती तूफान के आंध्र प्रदेश के तट में टकराने से पहले प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है। चेन्नै में तबाही को देखते हुए करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। दक्षिणी राज्यों में तबाही मचा रहे इस चक्रवाती तूफान को मिचौंग नाम किसने दिया? इसका मतलब क्या है...

मिचौंग इस साल भारतीय हिस्सों में तबाही मचाने वाला चौथा चक्रवाती तूफान है। सोमवार को यह बंगाल की खाड़ी के ऊपर घूम रहा था और तमिलनाडु के कई हिस्सों खासकर चेन्नै में तबाही मचाने के बाद अब आंध्र प्रदेश की तरफ बढ़ रहा है। इसके किसी भी वक्त यहां तट पर टकराने की संभावना है। सुरक्षा के मद्देनजर तट के पास रहने वाले लोगों को रेस्क्यू किया गया है। अधिकारियों ने लोगों को कई सलाह जारी की हैं। जिसमें लोगों से घर के अंदर रहने और खाद्य पदार्थ, पानी और दवाओं जैसी महत्वपूर्ण आपूर्ति का स्टॉक करने के लिए कहा गया है।

साथ ही मछुआरों को 6 दिसंबर तक समुद्र में जाने से बचने के लिए भी कहा गया है। आईएमडी ने एक विशेष बुलेटिन में कहा, “यह लगभग उत्तर की ओर लगभग समानांतर और दक्षिण आंध्र प्रदेश तट के करीब बढ़ रहा है और 5 दिसंबर की दोपहर के दौरान बापटला के करीब, नेल्लोर और मछलीपट्टनम के बीच दक्षिण आंध्र प्रदेश तट को पार करेगा। इस दौरान इसकी स्पीड 90-100 किमी प्रति घंटे की रह सकती है। तट से टकराने के बाद इसकी गति 110 किमी प्रति घंटे की रह सकती है।''

चक्रवात मिचौंग का नाम कैसे पड़ा?
विश्व मौसम विज्ञान संगठन के अनुसार, चक्रवात मिचौंग का नाम म्यांमार द्वारा सुझाया गया था। म्यामार भाषा में इसका उच्चारण "मिग्जौम" किया गया है। इस शब्द का अर्थ है ताकत और लचीलापन।

चेन्नै में आठ की मौत, सड़क पर मगरमच्छ तक दिखे
मिचौंग चक्रवाती तूफान की वजह से पिछले कुछ दिनों में तमिलनाडु, पुडुचेरी समेत ओडिश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। चेन्नै में भारी बारिश से आठ लोगों की मौत हो चुकी है। सड़क पानी से लबालब भरे हुए हैं। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में सड़कों पर मगरमच्छ दिख रहे हैं। तबाही का मंजर इतना खतरनाक है कि एयरपोर्ट तक में पानी भर गया और करीब 70 फ्लाइट्स रद्द करनी पड़ी। फिलहाल मौसम विभाग ने आगामी दो से तीन दिन तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी और ओडिशा में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। दिल्ली और यूपी तक में इसका असर देखने को मिल सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें