फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमभीषण गर्मी और लू की मार से कैसे बचें? AIIMS के प्रोफेसर ने बताए आसान तरीके

भीषण गर्मी और लू की मार से कैसे बचें? AIIMS के प्रोफेसर ने बताए आसान तरीके

डॉ. निश्चल ने कहा, 'किसी भी सामान्य व्यक्ति को कम से कम 3-4 लीटर पानी पीना चाहिए। साथ ही इन दिनों ढीले कपड़े, हल्के रंग के कपड़े पहनें... इन बातों का पालन करने से आपको जरूरत राहत मिलेगी।'

भीषण गर्मी और लू की मार से कैसे बचें? AIIMS के प्रोफेसर ने बताए आसान तरीके
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 20 May 2024 10:04 PM
ऐप पर पढ़ें

मई महीने में गुजरते दिन के साथ तापमान बढ़ता जा रहा है और लू का प्रकोप भी चरम पर है। ऐसे में नई दिल्ली स्थित एम्स में मेडिसिन डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्चल ने जनता को गर्मी से बचने के लिए जरूरी सलाह दी है। उन्होंने विशेषकर दोपहर में गर्मी से संबंधित समस्याओं के बढ़ते जोखिम पर जोर दिया। निश्चल ने कहा, 'यह आवश्यक है कि जब तापमान बहुत अधिक हो तो बाहर न निकलें। अगर बहुत जरूरी काम हो तभी दोपहर में बाहर जाएं। बुजुर्ग, बच्चों और बीमार लोगों को ज्यादा जोखिम है। साथ ही युवाओं को भी इन दिनों सतर्क रहने की जरूरत है।'

डॉ. निश्चल ने कहा कि अगर युवा गर्मी भरे वातावरण में खेल रहे हैं, तो उन्हें बेहद सतर्क हो जाने की जरूरत है। ऐसी स्थिति में सावधानी बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा, 'किसी भी सामान्य व्यक्ति को कम से कम 3-4 लीटर पानी पीना चाहिए। साथ ही इन दिनों ढीले कपड़े, हल्के रंग के कपड़े पहनें... इन बातों का पालन करने से आपको जरूरत राहत मिलेगी।' उन्होंने निर्जलीकरण से बचने के लिए प्यास न होने पर भी पर्याप्त पानी पीने की सलाह दी। ऐसा करने से गर्मी की मार से काफी हद तक बचा जा सकता है। 

मौसम  विभाग ने इन राज्यों को लेकर जारी किया अलर्ट
इस बीच, भारत मौसम विज्ञान विभाग ने हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भीषण गर्मी की जानकारी दी है। यहां तक कि हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी इलाके भी भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं। धर्मशाला में अधिकतम तापमान 36 डिग्री, ऊना में 44.4 डिग्री, बिलासपुर में 42.4 डिग्री, सोलन में 36.6 डिग्री और कांगड़ा में 40 डिग्री तक पहुंच गया। मौसम कार्यालय ने दिल्ली, चंडीगढ़, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान के लिए रेड अलर्ट जारी किया। साथ ही, संवेदनशील लोगों की अत्यधिक देखभाल की आवश्यकता पर जोर दिया है। उत्तर प्रदेश, बिहार और गुजरात के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है, जिसमें शिशुओं, बुजुर्गों और पुरानी बीमारियों से ग्रस्त लोगों समेत संवेदनशील व्यक्तियों की उच्च स्वास्थ्य देखभाल पर जोर दिया गया है।