फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमIMD Weather Alert: उत्तर भारत में रेड अलर्ट जारी, इन राज्यों में छाए बादल; यूपी में मॉनसून से पहले बाढ़ की तैयारियां शुरू

IMD Weather Alert: उत्तर भारत में रेड अलर्ट जारी, इन राज्यों में छाए बादल; यूपी में मॉनसून से पहले बाढ़ की तैयारियां शुरू

IMD Weather Rain Alert: मौसम विभाग ने उत्तर भारत में रेड अलर्ट जारी किया है। इसने कहा है कि उत्तर प्रदेश के कई इलाकों और हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली के कुछ इलाकों में लू चलने की संभावना है।

IMD Weather Alert: उत्तर भारत में रेड अलर्ट जारी, इन राज्यों में छाए बादल; यूपी में मॉनसून से पहले बाढ़ की तैयारियां शुरू
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 18 Jun 2024 04:47 PM
ऐप पर पढ़ें

IMD Weather Monsoon Rain Alert: देश के कई इलाकों में लोग भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं। इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) रेड अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने उत्तर भारत में रेड अलर्ट जारी किया है। इसने कहा है कि उत्तर प्रदेश के कई इलाकों और हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली के कुछ इलाकों में लू चलने की संभावना है। इसके अलावा, जम्मू संभाग, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, बिहार और झारखंड के कई इलाकों में भी लू का प्रकोप जारी रहने की संभावना है।

हालांकि पंजाब और हरियाणा के कुछ इलाकों के लिए राहत भरी खबर है। मौसम विभाग ने बताया है कि इन राज्यों में बादल छाए हुए हैं और बारिश हो सकती है। आईएमडी की वैज्ञानिक सोमा सेन ने मंगलवार को बताया, "उत्तर भारत में रेड अलर्ट जारी किया गया है। पंजाब और हरियाणा समेत भारत के उत्तर-पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में शाम से बादल छाए रहेंगे और बारिश की भी संभावना है... पंजाब और हरियाणा में लू की स्थिति कम होने की संभावना है। इसके अलावा, कल (बुधवार से) दिल्ली में ऑरेंज अलर्ट जारी किया जाएगा...अगले 3-4 दिनों में दिल्ली में हल्की बारिश की संभावना है।"

वहीं आईएमडी ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, "18 जून 2024 को उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों और हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली के कुछ हिस्सों में लू से लेकर गंभीर लू की स्थिति होने की संभावना है और जम्मू संभाग, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, बिहार और झारखंड में अलग-अलग स्थानों पर लू की स्थिति होने की संभावना है।" भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, आज सुबह 08:30 बजे राष्ट्रीय राजधानी में तापमान 34.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

20 से 25 के बीच मानसून देगा यूपी में दस्तक,बाढ़ से निपटने की तैयारी

भीषण गर्मी और लू से परेशान उत्तर प्रदेश वासियों के लिए राहत भरी खबर सामने आई है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के अनुसार प्रदेश में 20 से 25 जून के बीच मॉनसून आने की संभावना है। ऐसे में योगी सरकार मॉनसून को लेकर अलर्ट हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्च स्तरीय बैठक कर मॉनूसन की सक्रियता के बाद बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए अधिकारियों को खाका तैयार करने का आदेश दिया था ताकि प्रदेशवासियों और उनके मवेशियों को समय रहते सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा सके।

दिल्ली को गर्मी से राहत नहीं, अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस रहने के आसार

राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को न्यूनतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के सामान्य तापमान से छह डिग्री सेल्सियस अधिक है। मौसम विभाग ने मंगलवार को आसमान सामान्यत: साफ रहने और लू के साथ भीषण गर्मी पड़ने तथा तेज हवा चलने का अनुमान जताया है। सुबह आठ बजकर 30 मिनट पर आर्द्रता 61 प्रतिशत दर्ज की गई। मौसम विभाग ने बताया कि अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

लू चलने की स्थिति वह होती है जब मौसम केंद्र का अधिकतम तापमान मैदानी इलाकों में कम से कम 40 डिग्री सेल्सियस, तटीय इलाकों में 37 डिग्री और पहाड़ी क्षेत्रों में 30 डिग्री तक पहुंच जाता है और तापमान सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री सेल्सियस अधिक होता है। अगर तापमान सामान्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो जाए तो भीषण लू की स्थिति घोषित कर दी जाती है।

फिर दिल्ली को राहत कब?

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है। आईएमडी मौसम की चेतावनी के लिए चार रंग कोड का इस्तेमाल करता है। ये रंग और इनका अर्थ क्रमश: ग्रीन (कोई कदम उठाने की जरूरत नहीं), येलो (निगरानी रखें और समय-समय जानकारी लेते रहें), ऑरेंज (तैयार रहें) और रेड (उचित कदम उठाएं) हैं। आईएमडी के सात दिनों के पूर्वानुमान के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी को बुधवार से हल्की राहत मिल सकती है।

बुधवार और बृहस्पतिवार को दिल्ली के लिए ‘येलो अलर्ट’ जारी किए जाने के आसार हैं, जबकि शुक्रवार और शनिवार को ‘ग्रीन अलर्ट’ जारी किया जा सकता है। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार के बाद एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तर-पश्चिम भारत की ओर बढ़ेगा जिसके असर से राष्ट्रीय राजधानी को भी राहत मिलेगी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, सुबह नौ बजे राष्ट्रीय राजधानी का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 178 दर्ज किया गया जो कि ‘मध्यम श्रेणी’ में आता है।

लद्दाख से झारखंड तक, उत्तर-पश्चिम भारत में भीषण गर्मी का प्रकोप

लद्दाख से लेकर झारखंड तक और उत्तर-पश्चिम भारत का एक बड़ा हिस्सा भीषण गर्मी का प्रकोप झेल रहा है और उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अधिकतम तापमान 47.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। मौसम कार्यालय ने कहा कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड और बिहार में अधिकांश स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से काफी ऊपर (5.1 डिग्री सेल्सियस या अधिक) रहा। राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया जो सामान्य से सात डिग्री अधिक था।

उत्तराखंड के देहरादून में अधिकतम तापमान 43.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के सामान्य से 9.5 डिग्री अधिक है, जबकि हिमाचल प्रदेश के ऊना में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो औसत से 6.7 डिग्री सेल्सियस अधिक है। जम्मू-कश्मीर में कटरा में अधिकतम तापमान 40.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 5.7 डिग्री सेल्सियस अधिक है, जबकि जम्मू में पारा 44.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

(इनपुट एजेंसी)