फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमMonsoon Updates: आपके राज्य में कब आ रहा मॉनसून, कितनी होगी बारिश? मौसम विभाग ने सब बताया

Monsoon Updates: आपके राज्य में कब आ रहा मॉनसून, कितनी होगी बारिश? मौसम विभाग ने सब बताया

मौसम विभाग का कहना है कि केरल में मॉनसून के देरी से आगमन का उत्तर भारत में उसके पहुचने से कोई सीधा संबंध नहीं है। यानी अभी भी यह संभावना है कि दिल्ली में मॉनसून तय समय 28 जून तक पहुंच सकता है।

Monsoon Updates: आपके राज्य में कब आ रहा मॉनसून, कितनी होगी बारिश? मौसम विभाग ने सब बताया
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Fri, 09 Jun 2023 06:14 AM
ऐप पर पढ़ें

IMD Monsoon Rain Updates: निर्धारित तिथि से सात दिन के विलंब के साथ मॉनसून ने केरल में दस्तक दे दी है। मौसम विभाग ने गुरुवार को मॉनसून के केरल पहुंचने की घोषणा करते हुए कहा कि केरल के ज्यादातर हिस्सों तथा दक्षिण तमिलनाडु में शानदार मॉनसूनी बारिश दर्ज की गई है। अगले चौबीस घंटों के दौरान मॉनसून के केरल के बाकी हिस्सों एवं पूर्वोत्तर में भी दस्तक देने की संभावना है। मौसम विभाग के सूत्रों ने कहा कि जिस रफ्तार से मॉनसून ने केरल में दस्तक दी है वह देश के अन्य हिस्सों में मॉनसून के पहुंचने के अच्छे संकेत हैं। हालांकि अगले एक सप्ताह के दौरान बनने वाली स्थितियां मॉनसून की प्रगति तय करती हैं। 

मौसम विभाग का कहना है कि केरल में मॉनसून के देरी से आगमन का उत्तर भारत में उसके पहुचने से कोई सीधा संबंध नहीं है। यानी अभी भी यह संभावना है कि दिल्ली में मॉनसून तय समय 28 जून तक पहुंच सकता है। जबकि जून मध्य में मॉनसून पूर्वी उत्तर प्रदेश में दस्तक देता है।

मौसम विभाग के अनुसार मॉनसून दक्षिण अरब सागर के शेष हिस्सों और मध्य अरब सागर के कुछ हिस्सों तथा समूचे लक्षद्वीप क्षेत्र, केरल के अधिकतर क्षेत्र, दक्षिण तमिलनाडु के अधिकतर हिस्सों, कोमोरिन क्षेत्र के शेष हिस्सों, मन्नार की खाड़ी और दक्षिण पश्चिम, मध्य एवं उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों की ओर बढ़ रहा है।

केरल में शुरुआत की तारीख अलग रही है
आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 150 वर्षों में केरल में मॉनसून की शुरुआत की तारीख भिन्न रही है, जो 1918 में समय से काफी पहले 11 मई को और 1972 में सबसे देरी से 18 जून को आया था। दक्षिण-पश्चिम मॉनसून पिछले साल 29 मई को, 2021 में तीन जून को, 2020 में एक जून, 2019 में आठ जून और 2018 में 29 मई को केरल पहुंचा था।

मॉनसून में देरी कुल वर्षा को प्रभावित नहीं करती
एक शोध से पता चलता है कि केरल में मॉनसून के आगमन में देरी का मतलब यह नहीं है कि उत्तर पश्चिम भारत में मॉनसून की शुरुआत में देरी होगी। हालांकि यह पाया गया कि केरल में मॉनसून के आगमन में देरी आम तौर पर दक्षिणी राज्यों और मुंबई में मॉनसून की शुरुआत में देरी से जुड़ी होती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि केरल में मॉनसून के आगमन में देरी भी इस मौसम के दौरान देश में कुल वर्षा को प्रभावित नहीं करती।

मौसम विभाग को सामान्य वर्षा की उम्मीद
बता दें कि इस साल भी मौसम विभाग ने मॉनसून सामान्य रहने की घोषणा की है। जबकि इस बार अलनीनो उत्पन्न होने की आशंका है। लेकिन जुलाई के बाद यह स्थिति संभव है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर पश्चिम भारत में सामान्य या उससे कम बारिश होने की उम्मीद है। पूर्व और उत्तर पूर्व, मध्य और दक्षिण प्रायद्वीप में इस दौरान औसत की 94 से 106 प्रतिशत सामान्य वर्षा होने की उम्मीद है।