फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमबहुत हुई गर्मी की मार, दिल्ली-NCR में कल रिमझिम फुहार; इन राज्यों में बारिश मूसलाधार 

बहुत हुई गर्मी की मार, दिल्ली-NCR में कल रिमझिम फुहार; इन राज्यों में बारिश मूसलाधार 

IMD Monsoon Latest Updates: IMD के ताजा बुलेटिन में शुक्रवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहने तथा दोपहर और शाम के समय कुछ स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़ने और हल्की बारिश या बूंदाबांदी होने की संभावना है

बहुत हुई गर्मी की मार, दिल्ली-NCR में कल रिमझिम फुहार; इन राज्यों में बारिश मूसलाधार 
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 11:04 PM
ऐप पर पढ़ें

IMD Monsoon Latest Updates: भारत मौसम विज्ञान (IMD) ने शुक्रवार (14 जून) को दिल्ली में हल्की बारिश का अनुमान जताया है, जिससे राष्ट्रीय राजधानी में पड़ रही भीषण गर्मी से राहत मिलने की संभावना है। सफदरजंग वेधशाला में बृहस्पतिवार को अधिकतम तापमान 44.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 4.9 डिग्री सेल्सियस अधिक है। वहीं न्यूनतम तापमान 29.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम के औसत तापमान से एक डिग्री सेल्सियस अधिक है। सफदरजंग वेधशाला में दर्ज तापमान को शहर का मानक माना जाता है।

मौसम विभाग ने बताया कि नजफगढ़ मौसम केंद्र में अधिकतम तापमान 45.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि नरेला में अधिकतम तापमान 45.3 डिग्री सेल्सियस, आया नगर में 46.4 डिग्री, रिज में 46.3 डिग्री और पालम में 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी के लिए 'ऑरेंज' अलर्ट जारी है। आईएमडी बुलेटिन के अनुसार सापेक्ष आर्द्रता 15 प्रतिशत से 58 फीसदी के बीच रही।

IMD के ताजा बुलेटिन में शुक्रवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहने तथा दोपहर और शाम के समय कुछ स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़ने और हल्की बारिश या बूंदाबांदी होने की संभावना जताई गई है। हालांकि, आईएमडी ने शुक्रवार को कुछ क्षेत्रों में लू चलने तथा 35 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से तेज हवाएं चलने का भी पूर्वानुमान जताया है। IMD के मुताबिक, शुक्रवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 44 और 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

मॉनसून पर ताजा अपडेट में मौसम विभाग ने कहा है कि अगले तीन-चार दिनों के दौरान महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी के कुछ और हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के आसार हैं। अरब सागर शाखा की मॉनसून अब तक केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश के बाद अब दक्षिणी छत्तीसगढ़ और ओडिशा एवं दक्षिण गुजरात में प्रवेश कर चुका है लेकिन बंगाल खाड़ी की मॉनसून तीन जून से ही बंगाल-बिहार की सीमा पर अटका हुआ है। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि आगामी सप्ताह में बंगाल खाड़ी की मॉनसून भी आगे बढ़ सकता है और बिहार-झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में लोगों को राहत पहुंचा सकता है।

IMD  ताजा बुलेटिन में कहा है कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून एक बार फिर से असम और मेघालय में सक्रिय हो गया है, जबकि तेलंगाना में यह कमजोर हो गया है। आीएमडी के पूर्वानुमान में कहा गया है कि अगले 24 घंटों में मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और विदर्भ में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बारिश और तेज़ हवाएँ चलने की संभावना है। कोंकण और गोवा में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने के आसार हैं। 

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा के तटों पर 35 से 45 किमी प्रति घंटे की गति से हवाएँ चलने की संभावना है, जो बढ़कर 55 किमी प्रति घंटे तक हो सकती हैं। अगले 24 घंटों के दौरान कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ में कुछ स्थानों पर और मराठवाड़ा में अलग-अलग स्थानों पर बारिश हो सकती है।