फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमMonsoon Date: उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट, यूपी के लिए भी आ गई मॉनसून की तारीख; बिहार के लिए बुरी खबर

Monsoon Date: उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट, यूपी के लिए भी आ गई मॉनसून की तारीख; बिहार के लिए बुरी खबर

आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार, अगले दो-तीन दिनों में उत्तर प्रदेश में मॉनसून आ सकता है। पिछले चौबीस घंटों के दरम्यान प्रदेश के कई अंचलों खासतौर पर बुन्देलखंड में अच्छी बारिश हुई।

Monsoon Date: उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट, यूपी के लिए भी आ गई मॉनसून की तारीख; बिहार के लिए बुरी खबर
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Sat, 22 Jun 2024 07:01 AM
ऐप पर पढ़ें

Rain Alert and Weather Update: भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में 2-3 दिन में मॉनसून के आहट उम्मीद है। इसके बाद राज्य के अधिकांश हिस्सों में बारिश होगी। अधिकारियों ने कहा कि प्री-मॉनसून की स्थिति पहले ही सक्रिय हो चुकी है और शनिवार से राज्य के कई हिस्सों में बारिश होने की संभावना है। इससे लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिलेगी। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी यूपी में फिलहाल गर्मी का प्रकोप जारी रहने की संभावना है। शनिवार से पूर्वी यूपी में पारा नीचे जाएगा। आईएमडी ने घोषणा की है कि मॉनसून बिहार पहुंच चुका है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो अगले दो से तीन दिन में यह उत्तर प्रदेश में प्रवेश कर जाएगा। 23-24 जून को राजधानी लखनऊ और उसके आसपास अच्छी बारिश होने की संभावना है।

वहीं, आईएमडी ने कहा है कि उत्तराखंड में बारिश का दौर शुरू होने के साथ मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। कुमाऊं मंडल के चार जिलों नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़, बागेश्वर में भारी बारिश को देखते हुए 24 से 26 जून तक अलर्ट पर रखा गया है। देहरादून स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक, पिछले तीन दिन से राज्य के अधिकांश हिस्सों में पश्चिमी विक्षोभ की वजह से बारिश हो रही है। 23 जून से प्री-मॉनसून बारिश का दौर शुरू होने के साथ उत्तराखंड में बारिश बढ़नी शुरू हो जाएगी।

शुरुआत में 24 जून से कुमाऊं के चार जिलों के साथ ही कुछ अन्य स्थानों पर भारी बारिश होगी। उम्मीद की जा रही है कि 27 जून के बाद पूरे उत्तराखंड में तेज बारिश होगी। 25 जून के बाद उत्तराखंड में कभी भी मॉनसून प्रवेश कर जाएगा, जो अगले दो-तीन दिन में पूरे राज्य में पहुंच जाएगा। वहीं उत्तराखंड में शुक्रवार को भी कई स्थानों पर बारिश हुई। मौसम विभाग ने चारधाम समेत पर्वतीय क्षेत्रों की यात्रा करते वक्त सावधानी बरतने के लिए कहा है।

यूपी में मॉनसून की आहट से राहत
उत्तर प्रदेश में मॉनसून आने में अब सिर्फ दो-तीन का ही फासला है मगर उसकी आहट से जनजीवन को राहत का सिलसिला शुरू हो चुका है। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार, अगले दो-तीन दिनों में उत्तर प्रदेश में मॉनसून आ सकता है। पिछले चौबीस घंटों के दरम्यान प्रदेश के कई अंचलों खासतौर पर बुन्देलखंड में अच्छी बारिश हुई। बांदा व सोनभद्र में सबसे अधिक पांच-पांच सेण्टीमीटर बारिश रिकार्ड की गयी। इसके अलावा झांसी के चिल्लाघाट पर तीन, जालौन, ललितपुर व चुर्क में दो-दो, नरैनी बांदा, बबेरू, सुल्तानपुर, बलिया, मुरादाबाद व कालपी में एक-एक सेण्टीमीटर बारिश रिकार्ड की गई।

 मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले चौबीस घंटों के दौरान पश्चिमी यूपी में कुछ स्थानों पर लू चलने के आसार हैं, जबकि पूर्वी उ.प्र. में उमस भरी गर्मी रहेगी। पूर्वी उ.प्र.में अलग-अलग स्थानों पर गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। 30 से 40 किलोमीटर की रफ्तार से आंधी भी आ सकती है। 23 जून को पूर्वी उत्तर प्रदेश में 40 से 50 किलोमीटर की रफ्तार से तेज आंधी चलने के आसार हैं। 24 व 25 जून को पूरे उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश का अनुमान जताया गया है।

बिहार में प्रवेश करते ही सुस्त पड़ा मॉनसून
बिहार पहुंचने के साथ ही मॉनसून सुस्त पड़ गया है। एक हफ्ते की देरी से राज्य में दस्तक देने के बाद मॉनसून अभी 14 जिलों तक ही सीमित है। मौसम विभाग के अनुसार अभी मॉनसून जहां गुरुवार को पहुंचा था, वहीं रुका है। हालांकि 48 से 72 घंटे के दौरान सूबे में मॉनसून के आगे बढ़ने को लेकर परिस्थितियां अनुकूल बनी रही हैं। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, अररिया और किशनगंज जिले के एक-दो स्थानों पर भारी बारिश होने के आसार हैं। वहीं बाकी जिलों के कुछ स्थानों पर गरज और चमक के साथ हल्की बारिश हो सकती है। इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी चलने के आसार हैं।

मध्य प्रदेश में तीन दिन देरी से पहुंचा मॉनसून
दक्षिण-पश्चिम मॉनसून शुक्रवार को अपने निर्धारित समय से तीन दिन देरी से मध्य प्रदेश पहुंचा और अगले चार से पांच दिनों में पूरे राज्य में पहुंचने की संभावना है।
आईएमडी भोपाल केंद्र के अनुसार, बालाघाट जिले से मॉनसून ने मध्य प्रदेश में प्रवेश कर लिया है। इससे राज्य के पूर्वी हिस्से में बालाघाट, पांढुर्ना, सिवनी, मंडला, डिंडोरी और अनूपपुर जिलों में बारिश हुई है।

ग्वालियर और चंबल क्षेत्र सहित उत्तरी क्षेत्र को छोड़कर राज्य के बड़े हिस्से में मॉनसून और प्री-मॉनसून बारिश हो रही है। आईएमडी के मुताबिक, इस बार एमपी में सामान्य से अधिक बारिश होने की उम्मीद है। पिछले साल मॉनसून मध्य प्रदेश में 24 जून को आया था और अगले दिन तक पूरे राज्य को कवर कर लिया था।

पाकुड़-बरहड़वा के रास्ते झारखंड में पहुंचा मॉनसून
पश्चिम बंगाल से गुजरते हुए पाकुड़ और बरहड़वा (साहिबगंज) के रास्ते मॉनसून शुक्रवार को झारखंड में पहुंच गया है। रांची मौसम विभाग के प्रभारी अभिषेक आनंद ने मॉनसून के झारखंड में दस्तक देने की पुष्टि कर दी है। इसबार मॉनसून पिछले साल से दो दिन बाद यहां दस्तक दी है। 2023 में मॉनसून 19 जून को यहां पहुंच चुकी थी। मौसम विभाग के मुताबिक साउथ वेस्ट (दक्षिण पश्चिम) मॉनसून का असर यहां दिख रहा है। साहिबगंज के रास्ते मॉनसून बिहार के रक्सौल की ओर बढ़ गया है। मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 3-4 दिनों में मॉनसून पूरे राज्य में सक्रिय हो जाने की उम्मीद है। धनबाद में देर शाम बारिश होने से लोगों को जहां गर्मी से राहत मिली है, वहीं गिरिडीह में भी दोपहर बाद लगभग आधे घंटे से ज्यादा मुसलाधार बारिश हुई है।

Advertisement