फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमइन राज्यों में होने लगी बारिश, दिल्ली और यूपी में भी फिक्स है मॉनसून की तारीख; यहां आ गई बाढ़

इन राज्यों में होने लगी बारिश, दिल्ली और यूपी में भी फिक्स है मॉनसून की तारीख; यहां आ गई बाढ़

IMD Latest Updates on Monsoon Rain: इस महीने के अंत तक 27 जून के आसपास दिल्ली में मॉनसून आने की उम्मीद है। सिक्किम, बंगाल, महाराष्ट्र, गोवा, तेलंगाना, कर्नाटक में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है।

इन राज्यों में होने लगी बारिश, दिल्ली और यूपी में भी फिक्स है मॉनसून की तारीख; यहां आ गई बाढ़
imd latest updates on monsoon heavy rain in maharashtra flood in this state rain date fixed in delhi
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 11:25 PM
ऐप पर पढ़ें

IMD Latest Updates on Monsoon Rain: उत्तर और उत्तर-पश्चिम भारत के कई हिस्से अभी भी भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं। लेकिन अब इससे जल्द ही राहत मिलने वाली है। दरअसल भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने बहुत ही राहत भरा अलर्ट जारी किया है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले दिनों छिटपुट वर्षा हुई थी। अब आईएमडी ने जून के अंत तक शहर में पूर्ण मॉनसून (Monsoon Rain) के आगमन का अनुमान जताया है। आईएमडी ने कहा कि इस महीने के अंत तक 27 जून के आसपास शहर में मॉनसून आने की उम्मीद है। इसके अलावा, भारतीय मौसम विभाग ने सिक्किम, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गोवा, तेलंगाना, केरल और कर्नाटक में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है।

इस राज्य में हुई इतनी बारिश कि आ गई बाढ़

सिक्किम (Sikkim Flood) के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई है। इसके कारण अचानक बाढ़ आ गई और भूस्खलन की वजह से कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य लापता हैं। IMD की गंगटोक इकाई के अनुसार, राज्य में भारी बारिश रविवार तक जारी रहने की संभावना है। मॉनसून के मौसम ने सिक्किम में तबाही मचा दी है। मंगन जिले में रात भर हुई भारी बारिश के कारण 3 लोगों की मौत हो गई, जबकि 3 अन्य अभी भी लापता हैं। IMD की गंगटोक इकाई के अनुसार, सिक्किम में भारी बारिश 16 जून तक जारी रहने की संभावना है। 

महाराष्ट्र में खूब बरस रहे मेघ

इसी तरह, महाराष्ट्र में भी जमकर बारिश हो रही है। महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में 1 जून से बारिश से संबंधित घटनाओं में 14 लोगों की जान चली गई है, जिनमें से 11 की मौत बिजली गिरने से हुई है। संभागीय आयुक्त कार्यालय द्वारा तैयार की गई एक प्राथमिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले दो दिनों में परभणी और हिंगोली जिलों में चार मौतें हुईं।

बता दें कि इस बार मॉनसून सुस्त है। यानी यह धीमी गति से आगे बढ़ रहा है। दक्षिण-पश्चिम मॉनसून ने 12 जून, बुधवार को महाराष्ट्र के बड़े हिस्से को अपने दायरे में ले लिया। हालांकि भीषण गर्मी से जूझ रहे मध्य और उत्तर भारत को अब भी मॉनसून के पहुंचने का इंतजार है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि मॉनसून अगले तीन से चार दिनों के दौरान ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी तक पहुंच सकता है। बंगाल की खाड़ी में मानसून कमजोर है और इसके वहां से आगे बढ़ने का इंतजार है।

मॉनसून पर हावी गर्म हवाएं, इसलिए हो रही बारिश में देरी

मॉनसून के धीमी गति से पहुंचने के पीछे गर्म हवाएं जिम्मेदार बताई जा रही हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तर-पश्चिम से आने वाली गर्म हवाएं बंगाल की खाड़ी के ऊपर कमजोर मॉनसून पर हावी हो रही हैं और मध्य तथा उत्तरी भारत के कुछ हिस्सों में गर्म मौसम की स्थिति को बढ़ा रही हैं। पूर्व पृथ्वी विज्ञान सचिव माधवन राजीवन ने कहा कि सामान्य प्रगति के बाद मॉनसून का क्रम भंग हो रहा है। अगले 8-10 दिनों में बहुत ज्यादा प्रगति की उम्मीद नहीं है, इसलिए उत्तर भारत में मॉनसून की शुरुआत में देरी हो सकती है। इससे दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत उत्तर भारत में अत्यधिक तापमान और लू चलने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार, मानसून के बिहार और झारखंड में 16-18 जून तक, उत्तर प्रदेश में 20-30 जून तक और दिल्ली में 27 जून के आसपास पहुंचने की उम्मीद है, जो राष्ट्रीय राजधानी के लिए सामान्य शुरुआत की तारीख है।

यहां भारी बारिश की चेतावनी

आईएमडी के अनुसार, पूर्वोत्तर असम और उसके आसपास के इलाकों में एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है और दूसरा उत्तरी बांग्लादेश और उसके आसपास के इलाकों में निचले क्षोभमंडल स्तरों पर बना हुआ है। इसके प्रभाव से, अगले 7 दिनों के दौरान अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और उप-हिमालयी, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में गरज और बिजली के साथ व्यापक हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है।

अगले 5 दिनों के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है और रविवार तक नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी वर्षा होने की संभावना है। मौसम एजेंसी ने कहा कि अगले 3 दिनों के दौरान गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और ओडिशा में गरज और बिजली के साथ छिटपुट से लेकर मध्यम वर्षा होने की संभावना है और उसके बाद इसमें वृद्धि होगी।