फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमCyclone Remal: कब तक बंगाल तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान, इस शहर पर होगा बेअसर

Cyclone Remal: कब तक बंगाल तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान, इस शहर पर होगा बेअसर

Cyclone Remal Updates: बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र और तेज हो जाएगा तथा रविवार शाम तक यह भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और इससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों से टकराएगा।

Cyclone Remal: कब तक बंगाल तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान, इस शहर पर होगा बेअसर
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 24 May 2024 09:38 AM
ऐप पर पढ़ें

Cyclone Update: चक्रवात रेमल को लेकर चर्चाएं जारी हैं। संभावनाएं जताई जा रही हैं कि यह चक्रवाती तूफान रविवार शाम तक बांग्लादेश और सटे पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है। हालांकि, इसी बीच मौसम विज्ञान विभाग यानी IMD ने मुंबई को राहत भरी खबर दी है। विभाग का कहना है कि मुंबई के लिए तूफान को लेकर किसी भी तरह की चेतावनी जारी नहीं की गई है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तूफान के मुंबई के तटों पर पहुंचने की संभावनाएं कम हैं। अखबार से बातचीत में IMD मुंबई में वैज्ञानिक सुषमा नायर का कहना है कि मुंबई में मौसम शुष्क रह सकता है। हालांकि, रायगढ़ जैसे कुछ इलाकों में हल्की बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

उन्होंने कहा, 'गुरुवार तक चक्रवात विकसित नहीं हुआ है और यह बंगाल की खाड़ी में सिर्फ कम दबाव का क्षेत्र है। अगर यह विकसित होता भी है, तो भी IMD ने कभी भी किसी भी भारतीय तट पर इसके लैंडफॉल होने का जिक्र नहीं किया है। फिलहाल, स्थिति यही है और इसके बाद भी हम मुंबई में चक्रवात को लेकर संदेश देख रहे हैं।' कहा जा रहा है मुंबई में WhatsApp पर तूफान के टकराने से जुड़ी अफवाहें फैल रही हैं।

अखबार से बातचीत में कोंकण वेदर ब्लॉग चलाने वाले अभिजीत मोडक बताते हैं, 'ताजा घटनाक्रमों को देखते हुए अंडमान एंड निकोबार आईलैंड्स पर मॉनसून की हवाओं के आने के बाद एक चक्रवात बंगाल की खाड़ी में बन सकता है। शुरुआत में इसके उत्तर की ओर बढ़ने की उम्मीद है और लैंडफॉल कहां होगा इसकी पुष्टि की जानी बाकी है।'

उन्होंने कहा, 'हालांकि, इस घटनाक्रम का असर इस बार मुंबई या पश्चिम तट पर नहीं होगा। ऐसे में मुंबई में गर्म और उमस का स्थिति जारी रहने की संभावनाएं हैं।'

चक्रवाती तूफान
बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र और तेज हो जाएगा तथा रविवार शाम तक यह भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और इससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों से टकराएगा। मौसम विभाग ने गुरुवार को यह जानकारी दी । इस मॉनसून पूर्व मौसम में बंगाल की खाड़ी में यह पहला चक्रवात है। हिंद महासागर क्षेत्र में चक्रवात के नामकरण प्रणाली के अनुसार, इस तूफान का नाम रेमल रखा जाएगा। 

भारत मौसम विभाग की वैज्ञानिक मोनिका शर्मा ने बताया, 'यह प्रणाली शुक्रवार की सुबह तक मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव क्षेत्र में केंद्रित हो जाएगा। यह शनिवार की सुबह एक चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा और इसमें तेजी आएगी। इसके बाद रविवार शाम तक यह एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और निकटवर्ती पश्चिम बंगाल तट पर पहुंचेगा।'

(एजेंसी इनपुट के साथ)