फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमCyclone Remal: 135 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं, कोलकाता एयरपोर्ट बंद; चक्रवात रेमल मचाएगा तबाही

Cyclone Remal: 135 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं, कोलकाता एयरपोर्ट बंद; चक्रवात रेमल मचाएगा तबाही

Cyclone Remal Updates: क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख एचआर बिस्वास ने कहा, "कोलकाता में रविवार से लेकर और सोमवार दोपहर के बीच 24 घंटों में चक्रवात का सबसे अधिक प्रभाव देखने की संभावना है।

Cyclone Remal: 135 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं, कोलकाता एयरपोर्ट बंद; चक्रवात रेमल मचाएगा तबाही
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Sun, 26 May 2024 06:07 AM
ऐप पर पढ़ें

Cyclone Remal Timing: आज का दिन चक्रवात रेमल के लिए बहुत ही खास है। रविवार रात 11 बजे से लेकर सोमवार देर रात एक बजे के बीच बंगाल-बांग्लादेश तट पर टकराने वाला है। इसकी वजह से कोलकाता में रविवार दोपहर से सोमवार दोपहर तक मौसम बिगड़ने की पूर्ण संभावना है। इस दौरान हवा की रफ्तार 70-80 किमी प्रति घंटे से लेकर 90 किमी प्रति घंटे तक रहने की संभावना है। इस दौरान तूफान के साथ-साथ 200 मिमी तक भारी बारिश की भी आशंका है।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के अधिकारियों ने अत्यधिक सावधानी के तौर पर रविवार दोपहर से 21 घंटे के लिए उड़ानें बंद करने का फैसला किया है। शटडाउन के कारण 394 उड़ानें रद्द हो जाएंगी। एक अधिकारी ने कहा कि जिन यात्रियों की फ्लाइट कैंसिल हुई हैं, उन्हें एयरलाइंस रिफंड कर देगी। हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने कहा, "मौसम विभाग ने 93-111 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान लगाया है। इसके कारण लैंडिंग और उड़ान भरने में काफी दिक्कतें हो सकती हैं।''

शनिवार शाम करीब 5.30 बजे यह सिस्टम उत्तर और इससे सटे पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान में बदल गया। इसके आधी रात के आसपास बंगाल में खेपुपारा और सागर द्वीप के बीच टकराने की भविष्यवाणी की गई है। बंगाल और बांग्लादेश के तटीय क्षेत्रों में 110-120 किमी प्रति घंटे की गति से हवा चलने की संभावना है। इसकी रफ्तार 135 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।

क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख एचआर बिस्वास ने कहा, "कोलकाता में रविवार से लेकर और सोमवार दोपहर के बीच 24 घंटों में चक्रवात का सबसे अधिक प्रभाव देखने की संभावना है। तूफान के प्रभाव को निर्धारित करने के लिए रविवार दोपहर से पहले छह घंटे महत्वपूर्ण हैं।"  बंगाल के तट से टकराने के बाद चक्रवात रेमल कोलकाता शहर के 100 किमी के भीतर तक पहुंच सकता है। 

आईएमडी ने चेतावनी जारी की है कि रविवार और सोमवार को मिजोरम, त्रिपुरा और दक्षिणी मणिपुर में हवा की गति 50-60 किमी प्रति घंटे और 70 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। दक्षिण असम और मेघालय में हवा की गति 40 किमी प्रति घंटे से लेकर 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।