फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमसियासी सरगर्मी के बीच शहरों में कई डिग्री बढ़ा तापमान, जानिए क्या है उत्तराखंड मौसम पूर्वानुमान

सियासी सरगर्मी के बीच शहरों में कई डिग्री बढ़ा तापमान, जानिए क्या है उत्तराखंड मौसम पूर्वानुमान

मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के मुताबिक यूएस नगर जिले के पंतनगर में तीन दिन पहले अधिकतम पारा 34.5 डिग्री था, जबकि यह बढ़कर गुरुवार को 36.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बारिश के आसान हैं।

सियासी सरगर्मी के बीच शहरों में कई डिग्री बढ़ा तापमान, जानिए क्या है उत्तराखंड मौसम पूर्वानुमान
Himanshu Kumar Lallचम्पावत( संतोष जोशीFri, 12 Apr 2024 12:45 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के बीच राजनीतिक सरगर्मी तेज है, लेकिन मौसम में गर्मी ने भी नेताओं के पसीने छुड़ा दिए हैं। जनसभा और रैलियों के लिए जगह-जगह दौड़ रहे प्रत्याशियों और समर्थकों को मौसम के तल्ख तेवर परेशान कर रहे हैं। बीते तीन दिनों में कुमाऊं में औसतन एक से दो डिग्री पारा चढ़ा है।

इन दिनों लोकसभा चुनाव को लेकर माहौल गर्म है। राजनीतिक पार्टियां वोट के लिए लोगों को रिझा रहीं हैं। ऐसे में नेताजी को मौसम के गर्म तेवरों का सामना करना पड़ रहा है। बीते तीन दिनों में लगातार कुमाऊं के हर जिले में पारा चढ़ा है।

मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के मुताबिक यूएस नगर जिले के पंतनगर में तीन दिन पहले अधिकतम पारा 34.5 डिग्री था, जबकि यह बढ़कर गुरुवार को 36.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पिथौरागढ़ जिले में तीन दिन पहले 25.8 डिग्री तापमान था। अब यहां 27.1 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है।

बात करें बागेश्वर की तो पहाड़ के जिलों में सर्वाधिक तापमान है। यहां 31.7 डिग्री से तीन दिन के भीतर तापमान अब 32.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। इसी तरह चम्पावत का तापमान 23.6 डिग्री से 24.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अल्मोड़ा में तीन दिन पहले 29.8 डिग्री पारा था जो अब 30.2 डिग्री पहुंच गया है।

13 अप्रैल से बदलेगा मौसम, 14 को हल्की बारिश
चम्पावत। मौसम विभाग केंद्र देहरादून के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि 12 अप्रैल को कुमाऊं में कई जगहों पर आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। लेकिन 13 अप्रैल से मौसम बदलने की संभावना है। जबकि 14 अप्रैल को कुमाऊं के पिथौरागढ़, चम्पावत, अल्मोड़ा और बागेश्वर जिले में हल्की बारिश हो सकती है। यूएस नगर और नैनीताल में बादल बने रहेंगे। 15 से मौसम शुष्क रहने की संभावना है।

तपने लगा नैनीताल अप्रैल में ही 25 डिग्री छूने लगा तापमान
नैनीताल अबकी बार अप्रैल से ही तपने लगा है। बीते सोमवार को नैनीताल में अधितम तापमन 25 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। हालांकि मंगलवार व बुधवार को यह गिरकर 23 डिग्री पर आ गया। इस कमी के बावजूद नैनीताल में औसत अधिकतम तापमान करीब डेढ़ डिग्री अधिक चल रहा है।

जिसका कारण नैनीताल में दोपहर के समय पड़ रही चटख धूप है। अप्रैल के दस दिनों में यहां का औसत तापमान 22.8 डिग्री सेल्सियस चल रहा है। हालांकि यहां चलने वाली ठंडी हवाएं बहुत ज्यादा गर्मी का एहसास नहीं होने देती। पर धूप ने लोगों के साथ ही पर्यटकों के भी पसीने छुटाने शुरू कर दिए हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार यह अल नीनो का साल है। जिससे भारत में कम वर्षा हुई और अब अधिक गर्मी पड़ने का अनुमान है। भूमध्य व प्रशांत क्षेत्र में समुद्र की सतह के तापमान में बढ़ोतरी हो रही है। यह गर्मी समुद्र के ऊपर वायु प्रवाह को प्रभावित करता है।

लिहाजा इस साल तापमान में बदलाव का असर एशिया समेत कई देशों में पड़ रहा है। इस कारण उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में अभी से ही हीटवेव चलने लगी हैं। जिसका असर पहाड़ों पर भी दिख रहा है। इससे नैनीताल में पेयजल संकट बढ़ रहा है।

नैनीताल घूमना भी महंगा होने की आशंका
मैदानों में गर्मी बढ़ने के कारण सैलानियों की संख्या बढ़ने का अनुमान है। पर नैनीताल घूमना महंगा हो सकता है। क्योंकि होटल में कमरों के दाम पर्यटकों की संख्या देखकर ही तय होते हैं। ऐसे में यदि अधिक पर्यटक आए तो होटल में ठहरने से लेकर घूमना, खाना सब कुछ महंगा हो सकता है। नैनीताल में अधिकतर होटल ऑनलाइन बुकिंग उपलब्ध नहीं कराते।

औसत तापमन अप्रैल
2023 22.1 डिग्री
2022 23.0 डिग्री
2021 22.6 डिग्री

यह अल नीनो का साल है। गर्मी बढ़ रही है जिसका असर है कि उत्तर भारत के मैदानी में हीटवेव चलने लगी हैं। इसका असर पहाड़ों पर भी है। दोपहर में पड़ रही चटख धूप के कारण तापमान में वृद्धि हो रही है।
डॉ. नरेंद्र सिंह, वायुमंडल वैज्ञानिक एरीज 

मौसम ने ली करवट
सरोवर नगरी में गुरुवार को एकाएक मौसम ने करवट बदल ली। इस दौरान तेज हवाओं के बीच बूंदाबांदी शुरू हो गई। जिससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। शहर समेत आसपास के क्षेत्र में सुबह से मौसम सामान्य रहा। मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को नैनीताल में बुधवार की अपेक्षा दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक गिरावट दर्ज की गई।