फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मौसमMonsoon: UP के लिए खुशखबरी, बस 2 दिन और पड़ेगी गर्मी, मॉनसून की तेज हुई चाल

Monsoon: UP के लिए खुशखबरी, बस 2 दिन और पड़ेगी गर्मी, मॉनसून की तेज हुई चाल

Monsoon: मौसम विभाग का कहना है कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिम उत्तर प्रदेश में 24 और 25 जून को हीटवेव की स्थिति बन सकती हैं। हालांकि, इसके बाद गर्मी से निजात मिलना शुरू हो जाएगी।

Monsoon: UP के लिए खुशखबरी, बस 2 दिन और पड़ेगी गर्मी, मॉनसून की तेज हुई चाल
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 09:39 AM
ऐप पर पढ़ें

Mausam 24 June: मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों के लिए खुशखबरी है। मॉनसून जल्द ही बचे हिस्सों में बारिश की राहत लेकर पहुंचने वाला है। IMD यानी भारत मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार को यह जानकारी दी है। साथ ही उत्तर प्रदेश और बिहार को भी गर्मी से राहत मिलने वाली है। भारत के पूर्वोत्तर और दक्षिण के हिस्सों में भी झमाझम बारिश होने के आसार हैं। इसके अलावा दिल्ली में भी 29 जून तक बौछार की संभावनाएं हैं।

IMD ने सोमवार को जानकारी दी है कि अगले पांच दिनों तक बिहार, झारखंड और ओडिशा में हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं। इन दिनों में कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कर्नाटक, केरल, माहे, लक्षद्वीप, गुजरात, तटीय आंध्र प्रदेश, यानम, रायलसीमा, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और करईकल में बारिश हो सकती है। 

इसके अलावा उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान और झारखंड में बारिश के आसार हैं। 27 जून तक पश्चिम मध्य प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और विदर्भ में भारी बारिश हो सकती है। अगले तीन दिनों में बिहार और झारखंड में भी भारी से अति भारी बारिश हो सकती है। साथ ही पूर्वी राजस्थान और ओडिशा में भी 26 और 27 जून को बारिश के आसार हैं।

एक-दो दिन और झेलनी पड़ेगी गर्मी
मौसम विभाग का कहना है कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिम उत्तर प्रदेश में 24 और 25 जून को हीटवेव की स्थिति बन सकती हैं। हालांकि, इसके बाद गर्मी से निजात मिलना शुरू हो जाएगी। इधर, पूर्वोत्तर के असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 24 और 25 जून और अरुणाचल प्रदेश में 26 जून तक भारी बारिश की संभावनाएं हैं।

मॉनसून के क्या हाल
IMD का कहना है कि अगले 3-4 दिनों में दक्षिण पश्चिम मॉनसून के बढ़ने के लिए उत्तरी अरब सागर, गुजरात राज्य, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़ के बचे हुए हिस्सों, पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में स्थितियां अनुकूल हैं।