फोटो गैलरी

Hindi News वायरल न्यूज़महिला कोमा से हंसते हुए उठी, पांच साल पहले हुई थी हादसे का शिकार; मां के चुटकुले से खुली थी नींद

महिला कोमा से हंसते हुए उठी, पांच साल पहले हुई थी हादसे का शिकार; मां के चुटकुले से खुली थी नींद

अमेरिका में एक हैरान करने वाली घटना हुई है, जहां एक महिला पांच साल कोमा में रहने के बाद होश में आ गई। महिला के कोमा में रहने के दौरान उसकी मां उसे जोक्स सुनाया करती थी और इसने मैजिक किया।

महिला कोमा से हंसते हुए उठी, पांच साल पहले हुई थी हादसे का शिकार; मां के चुटकुले से खुली थी नींद
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,वॉशिंगटनTue, 06 Feb 2024 04:31 PM
ऐप पर पढ़ें

अमेरिका में एक हैरान करने वाली घटना हुई है, जहां एक महिला पांच साल कोमा में रहने के बाद होश में आ गई। महिला के कोमा में रहने के दौरान उसकी मां उसे जोक्स सुनाया करती थी। एक दिन अपनी मां के किसी जोक पर हंसते हुए वह कोमा से उठ बैठी। मिशिगन की रहने वाली इस महिला का नाम जेनिफर फ्लेवेलेन है। वह सितंबर 2017 में कार हादसे का शिकार हुई थी। इसके बाद वह कोमा चली गई थी। अस्पताल में इलाज के दौरान वह धीरे-धीरे ठीक हो रही थी। महिला के होश में आने के बाद जहां परिजनों काफी खुश हैं, वहीं डॉक्टरों ने इसे चमत्कार जैसा बताया है। 

घर के लोग हैं काफी खुश
जेनिफर की मां पेगी मीन्स ने एक इंटरव्यू में बताया कि जब वह कोमा से उठी तो मैं काफी ज्यादा डर गई। वह काफी तेजी से हंस रही थी और पहले उसने कभी ऐसा नहीं किया था। अपनी बेटी के ठीक होने पर पेगी मीन्स काफी ज्यादा खुश और भावुक हैं। उन्होंने कहाकि हमारा हर सपना पूरा हो गया। जो दरवाजे बंद हो गए थे वो फिर से खुल गए। वहीं, महिला के पति पिछले पांच साल से कोमा के दौरान उसका ख्याल रख रहे हैं। अब वह उसके चलने-फिरने और बातचीत को लेकर काम कर रहे हैं। जेनिफर की मां ने बताया कि वह उठ तो गई है कि लेकिन अभी भी ठीक से बोल नहीं पा रही है। हालांकि वह सिर हिलाकर जवाब देती है। उन्होंने बताया कि शुरू-शुरू में वह काफी ज्यादा सोती थी, लेकिन धीरे-धीरे यह सब ठीक हो जाएगा।

बेटे का मैच भी देखा
वहीं, जेनिफर के होश में आने पर डॉक्टर भी काफी ज्यादा हैरान हैं। मिशिगन के मैरी फ्री बेड रिहैबिलिटेशन हॉस्पिटल में उसके फिजिशियन डॉक्टर राल्फ वैंग ने कहाकि वह सिर्फ उठी नहीं है बल्कि ठीक हो रही है। उन्होंने कहाकि यह बहुत रेयर है और मात्र एक से दो फीसदी मरीज ही कोमा से उठते हैं और इतनी तेजी से ठीक होते हैं। ठीक होने के बाद जेनिफर अपने बेटे जूलियन का फुटबॉल मैच देखने भी गई थी। जब जेनिफर कोमा में गई थीं तो उनका बेटा मात्र 11 साल का था। मां के ठीक होने से जूलियन भी काफी खुश है। उसने कहाकि वह मेरी सबसे बड़ी सपोर्टर हैं। जब वह साइडलाइन पर खड़ी होकर मुझे चियर कर रही थीं तो वह लम्हा बेहद रोचक था। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें