DA Image
2 जुलाई, 2020|2:38|IST

अगली स्टोरी

नजमा आपी ने ली चीन की मौज, टिक टॉक ने हटा दिया वीडियो

nazma aapi  file pic

चीन और भारत के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास जो कुछ चल रहा था उसको लेकर नजमा आपी ने चाइनीज एप टिक टॉक पर मजे क्या लिए चीन की वीडियो शेयरिंग एप कंपनी को यह बिल्कुल भी रास नहीं आया। टिक टॉक ने उनका यह वीडियो वहां से डिलीट कर दिया है।

इस वीडियो में नजमा वीडियो में यह कहती हुई सुनाई पड़ती हैं कि चाइना ने पहले मोटा वाला खाना भेजकर हमारी आंतें खराब कराई उसके बाद फिर सस्ता फोन और टिक टॉक भेजकर यूथ को बर्बाद कर दिया। फिर ये कोरोना भेज कर पूरा देश बंद करा दिया और जब धीरे-धीरे सबकुछ हो ही रहा था तो इन्हें हमारी जमीन चाहिए।

नजमा ने चुटीले अंदाज में कहा कि मैं डॉक्टर वेलकम पिक्चर वाले डॉक्टर घूंघरू के अल्फाजों में पूंछना चाहूंगी कि कि तेरा बाप इधर छोड़ गया था या फिर तेरी मां। ये तो हो नहीं रहा है कि वैक्सीन ही बना लें और बॉर्डर पर उलझ रहा है और बॉर्डर पर उलझ रहा है।

ये भी पढ़ें: भारत-चीन सैनिकों में तनातनी पर पहली बार बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

चीन के टिकटॉक के मुकाबले आईआईटी रुडकी के छात्रों ने बनाया ‘मित्रों’ एप

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ से स्वदेशी पर जोर के बीच इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) रूडकी से पास छात्रों ने एक वीडियो शेयरिंग मोबाइल एप “मित्रों” बनाया है, जिसे चीन के लोकप्रिय टिकटॉक एप का जवाब माना जा रहा है। यह एक गूगल स्टोर पर उपलब्ध है और अब तक करीब 50 लाख लोग इसे डाउनलोड कर चुके हैं। यह एप आईआईटी रुडकी से पास पांच छात्रों ने दो महीने के भीतर बनाया है और हाल के हफ्तों में सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले एप में से एक है।

‘मित्रों (फ्राइंड्स) इंडियन शॉर्ट वीडियो’ को अब तक 50 लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं जो गूगल पर सरकार की तरफ से समर्थित आरोग्य सेतू एप से कुछ ही पीछे है। आरोग्य सेतू एप को कोरोना महामारी के बीच मॉनिटरिंग के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। 11 अप्रैल को लाउंच किया गया मित्रों डिवाइस टिकटॉट की तर्ज पर भारतीय प्लेटफॉर्म है, जिसमें एडिट और खुद के वीडियो अटैच करने का विकल्प दिया गया है।

इस एप को डेवलप करने वाले 2011 आईआईटी रूडकी से पास शिवांक अग्रवाल ने कहा कि इसका बेसिक आइडिया करोड़ों उन यूजर्स के लिए स्वदेशी प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराना था जो टिकटॉक या अन्य विदेशी वीडियो शेयरिंग एप्स का इस्तेमाल कर रहे हैं।इस एप के जबरदस्त रेस्पॉन्स को देखते हुए शिवांग ने कहा कि मित्रों की टीम तकनीकी पहलुओं पर काम कर रही है ताकि इसके फीचर्स को बेहतर किया जा सके और इसे सबका पसंदादा बनाया जा सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tik Tok removed video after Najma Aapi Comments on china