फोटो गैलरी

Hindi News वायरल न्यूज़रात के 3 बजे खाने लेकर आया डिलीवरी एजेंट, क्या थी वजह कि लोग कर रहे तारीफ

रात के 3 बजे खाने लेकर आया डिलीवरी एजेंट, क्या थी वजह कि लोग कर रहे तारीफ

हैदराबाद पहुंचे एक यात्री ने गलती से खाना डिलीवर करने एक एड्रेस कहीं और का दे दिया। मगर यात्री के गलती का हर्जाना डिलीवरी बॉय ने चुकाया और 12 किमी. एक्सट्रा ड्राइव कर वह ग्राहक के पास पहुंचा।

रात के 3 बजे खाने लेकर आया डिलीवरी एजेंट, क्या थी वजह कि लोग कर रहे तारीफ
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 28 Nov 2023 11:29 PM
ऐप पर पढ़ें

जब लोग बड़े शहरों में अनियमित नौकरियों की टाइमिंग और व्यस्तता में होते हैं तो खाने-पीने के लिए उनके दिमाग में सबसे पहले स्विगी और जोमैटो का नाम आता है! जैसे ही पेट की ज्वाला धधकती है तो हम ऐप खोलकर ऑर्डर दे देते हैं। हम खाना लाने वाले डिलीवरी एजेंट को ऐप के जरिए टिप देकर शुक्रिया अदा करते हैं। हालांकि, कभी-कभी डिलीवरी एजेंट ग्राहकों के लिए कुछ ऐसा कर जाते हैं, जिसके लिए शुक्रिया बहुत कम पड़ जाता है। ऐसी ही एक मिसाल सामने आई है जब एक डिलिवरी एजेंट ने प्रतिबद्धता दिखाते हुए एग्जांपल सेट किया है। हैदराबाद में घटी इस तरह की घटना से सोशल मीडिया यूजर्स भावुक हो रहे हैं।

हाल ही में हैदराबाद की यात्रा कर रहा एक व्यक्ति देर रात अपने होटल पहुंचा। चूंकि सभी स्थानीय रेस्तरां पहले से ही बंद थे, इसलिए उसने स्विगी से खाने का ऑर्डर दिया। हालांकि, यात्री को शहर के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी और उसने ऐप में गलत डिलीवरी एड्रेस डाल दिया। जहां वह ठहरा है था उससे 12 किमी दूर एक डिलीवरी का एड्रेस सेट कर दिया। इसके चलते डिलिवरी एजेंट गलत पते पर चला गया। जब उसे पता चला कि एड्रेस गलत है तो वह ग्राहक को ढूंढते हुए 12 किमी पीछे गया और खाना डिलीवर किया। स्विगी डिलीवरी एजेंट खाना देने के लिए सुबह 3 बजे 12 किमी की अतिरिक्त यात्रा कर ग्राहक को खाना पहुंचाता है।

ग्राहक ने सोशल मीडिया पर लिखा, "मैंने उसे फोन पर बताया था 'भैया सुबह से कुछ नहीं खाया।' वह आया और मुझसे कहा, 'अपने कुछ नहीं खाया है, किसी को भूखा रखना इंसानियत नहीं है' मैंने एजेंट को बहुत-बहुत धन्यवाद दिया। उसका नाम मोहम्मद आजम है।" 

यहां देखें पोस्ट

इस पोस्ट को 26 नवंबर को शेयर किया गया था। शेयर किए जाने के बाद से इसे एक लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं। इस पोस्ट पर 2 हजार से ज्यादा लाइक्स और कमेंट्स भी हैं। कई लोगों ने अपनी बात साझा करने के लिए पोस्ट के नीचे कमेंट भी किया। एक व्यक्ति ने लिखा, "ठीक है, कुछ अजनबियों की ये छोटी-छोटी बातें हमें इस उम्मीद पर मजबूर करती हैं कि मानवता सभी में जिंदा है।" एक दूसरे ने साझा किया, "भगवान उस आदमी का भला करे।" तीसरे ने कहा, "यह हैदराबाद की खूबसूरती है।" चौथे ने पोस्ट किया, "बहुत प्रोफेशनल, बहुत सारी शुभकामनाएं।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें