फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ वायरल न्यूज़डॉक्टर को दिखाने गई महिला को रोने पर देने पड़े 40 डॉलर, फोटो वायरल

डॉक्टर को दिखाने गई महिला को रोने पर देने पड़े 40 डॉलर, फोटो वायरल

डॉक्टर को दिखाने गई महिला को रोने पर 40 डॉलर की फीस देनी पड़ी। हैरान महिला की बहन केमिली जॉनसन ने खुलासा किया कि स्वास्थ्य केंद्र ने अवसाद या अन्य मानसिक बीमारियों की जांच नहीं की थी।

डॉक्टर को दिखाने गई महिला को रोने पर देने पड़े 40 डॉलर, फोटो वायरल
Srishti Kunjलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 20 May 2022 02:10 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

एक अमेरिकी महिला ने हाल ही में शेयर किया कि उसकी बहन से एक डॉक्टर ने रोने पर 40 डॉलर या  लगभग 3,100 रुपये की फीस ली है। केमिली जॉनसन, जो एक लोकप्रिय यूट्यूब सेलेब हैं ने ट्विटर पर अपनी बहन के मेडिकल बिल की एक फोटो शेयर की जिसमें उसने बिल के एक हिस्से के बारे में बताया जिसमें उसकी बहन को संक्षिप्त भावनात्मक/व्यवहारिक मूल्यांकन के लिए 40 डॉलर चार्ज किए गए थए। ट्वीट में, उसने समझाया कि उसकी बहन को एक दुर्लभ बीमारी है और वह भावुक हो गई क्योंकि वह निराश और असहाय महसूस करती है क्योंकि वह देखभाल पाने के लिए संघर्ष कर रही है।

इस मेडिकल बिल से पता चला कि जॉनसन की बहन ने जनवरी में अपनी स्थिति के लिए डॉक्टर से मुलाकात की थी। डॉक्टर ने कई टेस्ट किए जिसमें विजुअल टेस्ट के 20 डॉलर, हीमोग्लोबिन टेस्ट के 15 डॉलर, खून निकालने के 30 डॉलर, जांच करने के 30 डॉलर के अलावा 350 डॉलर और 40 डॉलर भी लिए। इसमें से 40 डॉलर संक्षिप्त भावनात्मक/व्यवहारिक मूल्यांकन  के लिखे गए। एक ट्विटर, थ्रेड में, 25 वर्षीय ने लिखा, एक आंसू और उन्होंने उसे 40 डॉलर की फीस बना दिया बिना यह बताए कि वह क्यों रो रही है, मदद करने की कोशिश करने की जगह बिना कोई जांच किए या हल बताए फीस लेली।

शेयर किए जाने के बाद से यह तस्वीर 486,000 से ज्यादा लाइक्स और हजारों कमेंट्स के साथ वायरल हो चुकी है। इंटरनेट यूजर्स ने ज्यादा फील वाले मेडिकल बिल के साथ अपने अनुभव भी शेयर किए। इंडिपेंडेंट के अनुसार, एक संक्षिप्त भावनात्मक/व्यवहारिक मूल्यांकन एक मानसिक स्वास्थ्य जांच है जो अवसाद, चिंता, आत्मघाती जोखिम के साइन को पहचानने का टेस्ट है। यह आमतौर पर कई सवाल पूछकर किया जाता है जिसे डॉक्टर को देखने से पहले सौंप दिया जाता है और भर दिया जाता है।

हालांकि, जॉनसन ने मीडिया आउटलेट को बताया कि उनकी बहन का कभी मूल्यांकन नहीं किया गया था। उसने कथित तौर पर दावा किया कि डॉक्टर ने उसकी बहन के आंसू देखे लेकिन कुछ नहीं कहा। जॉनसन ने खुलासा किया कि स्वास्थ्य देखभाल केंद्र ने अवसाद या अन्य मानसिक बीमारियों के लिए उनकी बहन का मूल्यांकन नहीं किया। उसकी बहन ने किसी विशेषज्ञ से बात तक नहीं की, किसी को रेफर नहीं किया और न ही उसे कुछ बताया गया।

25 वर्षीय ने कहा कि शुक्र है कि उसकी छोटी बहन को उसके पिता की बीमा योजना से कवर किया गया था, जिसने मेडिकल बिल भुगतान करने में मदद की। अब, जॉनसन को उम्मीद है कि अपनी बहन के मेडिकल बिल को ऑनलाइन शेयर करने से अमेरिकी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली दूसरों के साथ कैसा व्यवहार करती है, इसे बदलने में मदद मिल सकती है।

epaper