DA Image
हिंदी न्यूज़ › वायरल न्यूज़ › घटती जनसंख्या से परेशान हुआ ये देश, बढ़ाने के लिए लॉन्च किया 'हमदम'
वायरल न्यूज़

घटती जनसंख्या से परेशान हुआ ये देश, बढ़ाने के लिए लॉन्च किया 'हमदम'

लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीPublished By: Gaurav
Fri, 23 Jul 2021 04:45 PM
घटती जनसंख्या से परेशान हुआ ये देश, बढ़ाने के लिए लॉन्च किया 'हमदम'

भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में जहां बढ़ती जनसंख्या को कम करने के लिए उपायों पर चर्चा शुरू हो चुकी हैं तो वहीं कई देशों में अपेक्षाकृत जनसंख्या कम हो रही है। इसी बीच घटती हुई जनसंख्या से परेशान ईरान ने एक नया तरीका निकाला है। जन्म दर बढ़ाने के लिए ईरान सरकार ने मैच मेकिंग ऐप लॉन्च किया है।

दरअसल, ईरान सरकार द्वारा लॉन्च किए गए इस ऐप का नाम हमदम है। इसे सरकार के इस्लामिक सांस्कृतिक निकाय ने बनाया है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, हमदम के जरिए कोई भी अपना जीवन साथी चुन सकता है। यह ऐप संभावित जोड़ों और उनके परिवारों को मिलाने के नुस्खे बताएगा साथ ही परामर्श सेवाएं प्रदान करेगा और शादी के चार साल बाद तक उनके संपर्क में रहेगा।

इस दौरान हमदम ऐप यूजर की पहचान को वेरीफाई करेगा. ऐप पर युवाओं को रुचि, पसंद, नापसंद आदि के बारे में बताना होगा। ऐप युवाओं की ओर से दी गई जानकारी के आधार पर जीवन साथी की तलाश के सजेशन देता है। इतना ही नहीं यह ऐप गलत जानकारी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी। लोगों से ऐप यह भी पूछेगा कि उनकी पसंद और नापसंद क्या है और वो कैसा जीवनसाथी चुनना चाहते हैं, इस आधार पर ऐप उनके सामने कई तरह के कई सुझाव भी देगा।

ईरान में यह ऐप लांच होना इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि ईरान में इस्लामी कानून के तहत पश्चिम शैली की डेटिंग पर पाबंदी है। कई युवा पारंपरिक तरीके विवाह करना पसंद नहीं करते। ईरानी महिलाओं में प्रजनन दर पिछले 4 साल में 25 प्रतिशत कम हुई है, यहां प्रजनन दर प्रति महिला 1.7 बच्चे हैं। 

इसके अलावा ईरान ने एक दशक पहले अपनी परिवार नियोजन नीतियों को उलटना शुरू कर दिया था। इससे देश में गर्भनिरोधक प्राप्त करना कठिन हो गया था। ईरान के संदर्भ में इसे एक क्रांतिकारी फैसला कहा जा रहा है। ईरान के युवाओं के लिए ये एक बहुत बड़ी घोषणा इसलिए भी है, क्योंकि ईरान में लागू इस्लामी कानून कई पाबंदियां हैं।

रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि कुछ साल पहले ईरान में सुप्रीम लीडर ने एक आदेश में कहा था कि जनसंख्या को बढ़ावा देने से राष्ट्रीय पहचान मजबूत होगी। पश्चिमी जीवन शैली के अवांछित पहलुओं से मुकाबला किया जा सकेगा। इसके बाद ईरानी संसद ने शादियों और बच्चों के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए कर्ज और अन्य वित्तीय प्रोत्साहन दिए।

संबंधित खबरें