फोटो गैलरी

Hindi News वायरल न्यूज़मरीज के फेफड़े में फंसा कॉकरोच, आखिर कैसे पहुंचा अंदर? डॉक्टर भी देख कर रह गए हैरान

मरीज के फेफड़े में फंसा कॉकरोच, आखिर कैसे पहुंचा अंदर? डॉक्टर भी देख कर रह गए हैरान

मरीज के फेफड़े में करीब चार सेंटीमीटर लंबा कॉकरोच फंस गया था। इंटरवेंशनल पल्मोनोलॉजी के प्रमुख डॉ. टिंकू जोसेफ के नेतृत्व में मेडिकल टीम ने मरीज के बाएं फेफड़े से कॉकरोच को निकाला।

मरीज के फेफड़े में फंसा कॉकरोच, आखिर कैसे पहुंचा अंदर? डॉक्टर भी देख कर रह गए हैरान
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,कोच्चिThu, 29 Feb 2024 10:24 PM
ऐप पर पढ़ें

सांस लेने में समस्या होने के बाद 55 वर्षीय एक व्यक्ति जब इलाज के कोच्चि के अस्पताल गया तो उसकी परेशानी देख डॉक्टर भी हैरान रह गए। डॉक्टरों ने मरीज के फेफड़ों में कॉकरोच फंसा हुआ पाया। काफी मशक्कत के बाद डॉक्टरों ने उस कॉकरोच को बाहर निकाला। रिपोर्ट्स की मानें तो यह कॉकरोच करीब चार सेंटीमीटर लंबा था। इंटरवेंशनल पल्मोनोलॉजी के प्रमुख डॉ. टिंकू जोसेफ के नेतृत्व में मेडिकल टीम ने मरीज के बाएं फेफड़े से कॉकरोच को निकाला। सांस लेने में तकलीफ के कारण मरीज को ऑक्सीजन देने के लिए उसके गर्दन एक ट्यूब डाली गई थी। डॉक्टरों का मानना है कि हो सकता है कि कॉकरोच इसी के जरिए फेफड़ों में दाखिल हुआ हो।

4 सेंटीमीटर लंबा था कॉकरोच
मरीज को महसूस हुआ कि उसके गले में कुछ घुस गया है। इसके बाद उसे सांस लेने में तकलीफ होने लगी। इसके बाद एक्स-रे करके देखा गया लेकिन कोई असामान्यता नजर नहीं आई। फिर ईएनटी विभाग ने ब्रोंकोस्कोपी की और फेफड़ों में कॉकरोच पाया। उसके बाद इंटरवेंशनल पल्मोनोलॉजी विभाग की मेडिकल टीम ने मरीज की जांच की और कॉकरोच को बाहर निकाला।

बता दें इस तरह की यह पहली घटना नहीं है। अमेरिका के फ्लोरिडा में भी एक शख्स को अजीब सी समस्या हुई थी। नाक से लगातार खून बहने की समस्या से जूझ रहा एक शख्स जब इसके इलाज के लिए अस्पताल पहुंचा तो इस स्थिति को देख डॉक्टर भी हैरान रह गए। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फ्लोरिडा के एक शख्स की नाक से पिछले अक्टूबर में खून बह रहा था। पहले तो कभी-कभी रक्तस्राव होता था। इसके बाद समस्या की गंभीरता धीरे-धीरे बढ़ती गई। 7 फरवरी को उनकी समस्या ने अप्रत्याशित मोड़ ले लिया. उसकी नाक से लगातार खून बह रहा था और उसकी नाक और होंठ सूज गए थे। 

शुरू हो गई थी सड़न
शख्स की यह हालत देख डॉक्टरों ने तुरंत कई टेस्ट किए। जब खून बहने के कारण का पता लगा तो वे भी हैरान हो गए। डॉक्टरों के मुताबिक, करीब 150 कीड़े उसकी नाक के साथ-साथ साइनस वाली जगहों पर अपना बसेरा बना चुके थे। ये कीड़े वहां का मांस खा रहे थे जिसके चलते वह नाक में सड़न शुरू हो गई थी और संक्रमण फैलने लगा था। उसमें कुछ कीड़े मनुष्य के नाखून जितने बड़े थे। डॉक्टरों मरीज की नाक से कीड़ों को निकाला और एंटीपैरासिटिक दवा लगाई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें