फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News वायरल न्यूज़क्या राहुल गांधी ने महिलाओं को एक लाख रुपये महीने देने का वादा किया? जानिए इस दावे की सच्चाई

क्या राहुल गांधी ने महिलाओं को एक लाख रुपये महीने देने का वादा किया? जानिए इस दावे की सच्चाई

क्लिप मई 15 को, पूर्वी ओडिशा के बोलांगीर में आयोजित एक कांग्रेस रैली से ली गई है। राहुल गांधी के भाषण का वीडियो इंडियन नेशनल कांग्रेस (कांग्रेस) के यूट्यूब चैनल (आर्काइव यहां) पर लाइवस्ट्रीम किया गया।

क्या राहुल गांधी ने महिलाओं को एक लाख रुपये महीने देने का वादा किया? जानिए इस दावे की सच्चाई
Logicallyfactsलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 17 May 2024 04:02 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है जिसमें दावा किया गया है कि उन्होंने भारत में गरीब महिलाओं के बैंक खातों में हर महीने एक लाख रुपये जमा करने का वादा किया है। 19 सेकंड लंबे इस वीडियो में राहुल गांधी को कहते हुए सुना जा सकता है, "एक लाख रुपये हिंदुस्तान की सबसे गरीब महिलाओं के बैंक अकाउंट के अंदर हर महीने ..."

इस वीडियो को एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर कई यूजर्स ने शेयर किया है। एक यूजर ने लिखा, “भारत में अधिकांश मध्यमवर्गीय परिवार प्रति वर्ष ₹12 लाख से कम कमाते हैं। राहुल गांधी चाहते हैं कि वे उन्हें वोट दें ताकि, उन पर भारी कर लगाने के बाद, वह बेरोजगारों को प्रति वर्ष ₹12 लाख दे सकें। ऐसी पोस्टों के आर्काइव वर्जन यहां, यहां, यहां और यहां देखे जा सकते हैं।

क्या है सच्चाई

हालांकि, ये दावा भ्रामक है। वीडियो के लंबे वर्जन में, राहुल गांधी ने बताया था कि कैसे भारत में गरीब महिलाओं को सालाना एक लाख रुपये और 8,500 रुपये की मासिक किस्त दी जाएगी। वीडियो में राहुल गांधी मासिक किस्त का गणित समझाते हुए कहते हैं कि गरीब महिलाओं के बैंक खाते में सालाना एक लाख रुपये और हर महीने 8,500 रुपये जमा किए जाएंगे।

हमने सच का पता कैसे लगाया?

हमने पाया कि वायरल क्लिप मई 15 को, पूर्वी ओडिशा के बोलांगीर में आयोजित एक कांग्रेस रैली से ली गई है। राहुल गांधी के भाषण का वीडियो इंडियन नेशनल कांग्रेस (कांग्रेस) के यूट्यूब चैनल (आर्काइव यहां) पर लाइवस्ट्रीम किया गया था।

इस वीडियो में, उन्होंने कहा कि चुनाव परिणाम घोषित होने की तारीख जून 4 को कांग्रेस की सरकार बनने के बाद भारत में आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग की महिलाओं को उनके बैंक खाते में प्रति माह 8,500 रुपये मिलेंगे, जो एक साल में कुल एक लाख होंगे।

वीडियो में 29:15 मिनट की समयावधि पर, रैली में मौजूद एक महिला सुष्मिता साहू का उदाहरण लेते हुए, राहुल गांधी कहते हैं, “4 जुलाई को, सुष्मिता साहू जैसी ओडिशा में, यूपी में , तमिलनाडु और हिंदुस्तान के हर प्रदेश में करोड़ों महिलाएं जागेंगी और अपने बैंक अकाउंट को चेक करेंगी (2), और 4 जुलाई को एक महीने की किस्त 8,500 रुपये उनके बैंक अकाउंट में मिलेगा।"

उन्होंने गणित समझाते हुए कहा कि हर महीने इतना ही पैसा ट्रांसफर किया जाएगा और एक साल में सुष्मिता साहू जैसी महिलाओं को एक लाख रुपये दिए जाएंगे। राहुल गांधी ने कहा, "एक लाख रुपये हिंदुस्तान के सबसे ग़रीब महिलाओं के बैंक अकाउंट के अंदर हर महीने ठकाठक.." उन्होंने आगे कहा, "इसको कहते हैं विकास।"

30:38 मिनट से 30:50 मिनट की समय सीमा के बीच का हिस्सा, जहां गांधी ने कहा, "एक लाख रुपये हिंदुस्तान के सबसे ग़रीब महिलाओं के बैंक अकाउंट के अंदर हरे महीने," गलत दावा करने के लिए शेयर किया गया है।

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए जारी अपने घोषणापत्र में भी कांग्रेस ने वादा किया है कि वे 'महालक्ष्मी योजना' के तहत "प्रत्येक ग़रीब भारतीय परिवार" को हर साल एक लाख रुपये ट्रांसफर करेंगे, आदर्श रूप से घर की सबसे बुजुर्ग महिला के बैंक खाते में। ओडिशा में अपने भाषण में राहुल गांधी अपना वादा दोहरा रहे थे, नाकि गरीब महिलाओं के खाते में हर महीने एक लाख रुपये ट्रांसफर करने का नया वादा कर रहे थे।

निर्णय

राहुल गांधी के भाषण के एक वीडियो के साथ यह दावा कि उन्होंने कहा कि भारत की हर गरीब महिला को प्रति माह एक लाख रुपये देने का वादा किया है, भ्रामक है। वीडियो के लंबे वर्ज़न में उन्हें यह बताते हुए दिखाया गया है कि एक साल में 12 महीने की अवधि में एक लाख रुपये कैसे ट्रांसफर किए जाएंगे।

डिस्क्लेमर: इस स्टोरी को लॉजिकलीफैक्ट्स ने प्रकाशित किया था, जिसे लाइव हिन्दुस्तान ने पुनर्प्रकाशित किया है। यह Shakti Collective प्रोजेक्ट के तहत किया गया है।